Patrika Hindi News

परमिट चाहिए तो आरक्षित सीट पर पर्दे लगवाओ

Updated: IST raisen
परिवहन आयुक्त ने किए निर्देश जारी

रायसेन. यात्री बसों में नवजात शिशु को स्तनपान कराने के लिए आरक्षित सीट पर तीन ओर से पर्दे लगाने का फरमान आरटीओ ने जारी किया है। अब चाहे स्थायीे या अस्थायी परमिट चाहिए, तो संचालकों को पर्दे लगाना होगा। परिवहन आयुक्त ने इस नियम को इसलिए अनिवार्य किया है, कि यात्री बसों में सफर करने वाली महिलाओं को अपने नवजात शिशु को स्तनपान कराने में परेशानी न हो। परिवहन आयुक्त के इस फरमान के आते ही जिले के बस ऑपरेटरों में चिंता बढऩे लगी है। जिला मुख्यालय रायसेन से भोपाल,जबलपुर, रीवा, छतरपुर, पन्ना, राजनगर, मंडला, सागर और दमोह सहित गैरतगंज, बेगमगंज, सिलवानी, बरेली आदि तहसीलों और अन्य शहरों के लिए करीबन 250 सेे 260 बसों का आवागमन भवानी चौराहा बस स्टैंड से प्रतिदिन होता है। अनुमानित आंकड़ों के मुताबिक रोजाना 700 से 1000 यात्री इन बसों में आतेजाते हैं। इनमें महिलाओं की संख्या सबसे ज्यादा होती है। इनमें बहुत सी महिलाएं ऐसी होती हैं, जो अपने नवजात शिशु को लेकर सफर करती हैं। अभी सीट चारों ओर से खुली होने से महिलाओं को स्तनपान कराने में परेशानी आती है।

ऐसी होगी व्यवस्था

इस संबंध में डीटीओ रंजना भदौरिया का कहना है कि हरेक शिशु को उसकी माता के साथ ही स्वस्थ व सुरक्षित रखना राज्य शासन की जवाबदारी भी है। नए आदेश के अनुसार बस चालक के पीछे वाली पहली सीट को नवजात की मां के लिए आरक्षित की जाए। विन्डो के समीप बाल पेंटिंग्स भी कराई जाए। इस सीट के तीन तरफ से पर्दे लगाए जाएं। बसों के स्थायी और अस्थायी परमिट जारी करते समय अन्य नियम शर्तों के साथ इस नये नियम भी शामिल किया जाए। जो बस संचालक इसका पालन नहीं करेगा। उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???