Patrika Hindi News

पोर्टल पर आ रही दिक्कतें, कैसे होगा रजिस्ट्रेशन

Updated: IST rajgarh
शराब और पेट्रोलियम पदार्थों को छोड़कर तमाम उत्पादों पर लागू किए गए जीएसटी (गुड सर्विस टैक्स) से भले ही शासन व्यापारियों की दिक्कतें

ब्यावरा. शराब और पेट्रोलियम पदार्थों को छोड़कर तमाम उत्पादों पर लागू किए गए जीएसटी (गुड सर्विस टैक्स) से भले ही शासन व्यापारियों की दिक्कतें आसान करना चाहती हो, लेकिन मौजूदा हालात में इसे समझना मुश्किल हो रहा है। जोएसडी डॉट गर्वनमेंट डॉट इन पर लाग इन करने पर व्यापारियों को घंटों का समय लगा रहा है। ऐसे में 30 नवंबर से 15 दिसंबर की सीमित समयावधि में यह पूरा हो पाना मुश्किल लग रहा है।

दरअसल, गुड सर्विस टैक्स लागू होने के बाद व्यापारियों को एक्साइज, सी-फॉर्म और वेट टैक्स सहित 10-12 प्रकार के अन्य टैक्स जमा नहीं करने होंगे। टैक्स जमा करने की तकनीक को हाईटेक करने के लिए सेंट्रल से लागू की गई उक्त प्रक्रिया को लेकर वाणिज्यिक कर विभाग की कार्यशाला गुरुवार को स्थानीय अग्रवाल धर्मशाला में लगाई गई। इसमें विभाग की ओर से शहर के व्यापारियों को जीएसटी रजिस्ट्रेशन के बारे में बताया गया, साथ ही कैसे लॉग इन करना है, प्रक्रिया क्या है, इस बारे में विस्तार से बताया गया। इस दौरान कर सलाहाकार जगदीश दुबे, सादिक रसूल खान, देवेंद्र गुप्ता, अशोक दुबे सहित अन्य मौजूद थे। उन्होंने व्यापारियों से कहा कि जीएसटी रजिस्ट्रेशन के बाद आप लोगों को काफी सहूलियत मिलेगी। पैनकार्ड, आधार कार्ड, बैंक पास बुक सहित अन्य डिटेल्स के साथ व्यापारी पोर्टल (डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट जीएसटी डॉट गवर्नमेंट डॉट इन) पर अपलोड कर सकते हैं। कार्यशाला के दौरान कुछ व्यापारियों ने अपनी समस्याएं भी बताईं।

टाइम लिमिट को लेकर हम रिपोर्ट हायर लेवल पर फॉरवर्ड करेंगे। साथ ही पांच दिसंबर को व्यापारियों के लिए एक प्राइवेट वेबसाइड भी लांच हो रही है। उसमें एक सॉफ्टवेयर होगा, जिसमें जीएसटी रजिस्ट्रेशन को लेकर व्यापारी आसानी हो जाएगी।

-कैलाश सुलिया, वाणिज्यिक कर अधिकारी, राजगढ़

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???