Patrika Hindi News

एक वर्ष से नहीं मिला सहायिका को मानदेय

Updated: IST Rajgarh
सहायिका परियोजना अधिकारी कार्यालय सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के कई चक्कर काट चुकी हैं

कुरावर. गीलाखेड़ी आंगनबाडी केन्द्र में पदस्थ सहायिका सरस्वती बाई को एक वर्ष से विभाग द्वारा मानदेय नहीं मिल पाया हैं। ऐसे में सहायिका परियोजना अधिकारी कार्यालय सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के कई चक्कर काट चुकी हैं। लेकिन कही कोई सुनवाई नहीं होने पर उसने नौकरी छोडऩा ही मुनासिब समझा हैं। सहायिका ने एक जनवरी से आंगनबाड़ी जाना बंद करते हुए बताया कि कई अधिकारियों से उसे फ टकार मिली, तो किसी से मानदेय का आश्वासन। लेकिन आर्थिक संकट से परेशान सहायिका ने थक हारकर नौकरी छोडऩे का कठोर निर्णय लिया। सहायिका ने बैंक पासबुक दिखाते हुए बताया कि अंतिम बार मार्च 16 में मानदेय बैंक में जमा हुआ था। उसके बाद से कभी मानदेय मिला ही नहीं।

सहायिका की उम्र के हिसाब से मई 2016 में रिटायर्डमेंट हो गया था, उनका कोई प्रमाणित आयु प्रमाणपत्र भी नहीं है। जिससे उनका वेतन रुका हुआ है। फिर भी जितने दिन उन्होंने ड्यूटी की है, उसकी फ ाइल बनाकर हमने जिला कार्यालय को भेजी है। थोड़ा टाइम लग रहा है, लेकिन उनका पूरा पैसा मिलेगा। -दिव्या तिर्की, परियोजना अधिकारी कुरावर

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???