Patrika Hindi News

रसूखदारों के अवैध कब्जों पर नहीं हो रही कार्रवाई

Updated: IST Action is not illegal encroachment of influential
शहर सड़क चौड़ीकरण में राजनीति हावी। चौड़ीकरण के दायरे में आ रहे कुछ रसूखदारों के आवासों व दुकानों को निर्माणी कंपनी एडीबी द्वारा बख्शा जा रहा है।

राजनांदगांव. शहर के मोहारा रोड नंदई क्षेत्र में सड़क चौड़ीकरण के काम में राजनीति हावी है। चौड़ीकरण के दायरे में आ रहे कुछ रसूखदारों के आवासों व दुकानों को निर्माणी कंपनी एडीबी द्वारा बख्शा जा रहा है। वहीं गरीबों के आवासों पर तोड़-फोड़ की कार्रवाई की जा रही है।

इनकी भी नहीं सुनी

कार्रवाई में भेदभाव से नाराज लोगों ने विरोध भी जताया, लेकिन एडीबी के अधिकारियों ने इनकी एक भी नहीं सुनी। वहीं मौके पर मौजूद जिला प्रशासन के अधिकारी भी तोडफ़ोड़ की कार्रवाई का दायरा एडीबी पर निर्भर होने की बात कहते हुए इस मामले से पल्ला झाड़ते नजर आए।

कब्जा हटाया जा रहा

बालोद अंतागढ़ मार्ग का चौड़ीकरण कार्य चल रहा है। नंदई क्षेत्र में सड़क के दोनों ओर कब्जा को हटाया जा रहा है। कब्जा हटाने के दौरान कुछ लोगों ने राजनीतिक संरक्षण के तहत एडीबी द्वारा रसूखदारों के आवासों को बचाने का आरोप लगाकर विरोध करते रहे। कार्रवाई के दौरान मौके पर एसडीएम लोकेश चन्द्राकर, तहसीलदार प्रेम लता चंदेल, निगम आयुक्त अश्वनी देवांगन सहित एडीबी के अधिकारी मौजूद थे।

चला बुलडोजर

चौड़ीकरण के दायरे में लगभग दो दर्जन दुकानें व कुछ आवास भी आ रहे हैं। बावजूद कुछ लोगों के दुकान व आवास को छोड़ दिया गया है। वहीं नंदई चौक के पास दायरे में आ रहे स्कूल भवन को तोडऩे की कार्रवाई की गई। तोडफ़ोड़ के दौरान स्कूल में पढ़ाई चल रही थी। मौके पर मौजूद अधिकारियों ने आनन-फानन में बच्चों को दूसरे कमरे में शिप्ट कराया। इस दौरान कमरे में रखे सामानों को तत्काल वहां से हटाया गया।

एडीबी तय कर रहा

एसडीएम लोकेश चंद्राकर ने कहा कि चौड़ीकरण का काम एडीबी द्वारा किया जा रहा है। एडीबी ने तोडफ़ोड़ के लिए जितना मार्किंंग किया है, उसे तोडऩे की कार्रवाई कर रहे हैं। किस क्षेत्र में कितना एरिया लेना है यह एडीबी तय कर रहा है।

कार्रवाई की जा रही

एडीबी अधिकारी डीके खंडेलवाल ने कहा कि चौड़ीकरण में कोई भेदभाव नहीं हो रहा है। 21 मीटर चौड़ी सड़क बनाना है। मार्किंग में जिनका भी आवास व दुकान आ रहा है उसे तोडऩे की कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???