Patrika Hindi News

CYBER CRIME: चीन में तैयार सॉफ्टवेयर से हो रही ATM कार्ड क्लोनिंग, करोड़ों की धोखाधड़ी

Updated: IST crime,by changing the atm card,debit 1.25 lacks,cr
क्लोनिंग करने के बाद इन लाखों कार्डो का इस्तेमाल जिन स्वाइप मशीनों में किया गया, उनका भी सॉफ्टवेयर चीन में निर्मित है।

रांची। राजधानी में एसबीआई के एटीएम कार्ड की क्लोनिंग करके लाखों ग्राहकों के साथ करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। जिसका खुलासा एक ग्राहक द्वारा बैंक में शिकायत किए जाने के बाद हुआ। मामले में साइबर क्राइम के तहत पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है। खास बात यह है कि इन सभी ग्राहकों ने देश के विभिन्न हिस्सों में यस बैंक के एटीएम का उपयोग किया था।

जानकारी के अनुसार पहले इन एटीएम कार्डो का पहले क्लोन बनाया गया और बाद में क्लोन किए गए कार्ड का उपयोग ऑनलाइन खरीददारी, भुगतान और एटीएम से धन निकासी के लिए किया गया। इस कारण एसबीआइ ने विभिन्न राज्यों में लाखों ग्राहकों के एटीएम कार्ड ब्लॉक कर दिए हैं।

हालांकि यह धोखाधड़ी लंबे समय से चल रही थी। झारखंड के मूल निवासी और दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में कार्यरत अधिवक्ता मदन मोहन का एकाउंट एसबीआइ की दिल्ली में तीस हजारी स्थित शाखा में है। 14 अक्टूबर को रांची में एटीएम से पैसा न निकलने पर उन्हें जानकारी मिली कि उनका कार्ड ब्लॉक कर दिया गया है।

उन्होंने यह शिकायत एसबीआइ की अध्यक्ष अरुंधती भट्टाचार्य और ग्राहक सेवा अधिकारी से की। इससे पहले उन्होंने दिल्ली के मुंडका स्थित यस बैंक के एटीएम का इस्तेमाल किया था। सभी ग्राहकों के कार्ड ब्लॉक कर दिए गए हैं। अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि एटीएम कार्ड का क्लोन कहां और किसने बनाया है।


चीन में तैयार हुआ सॉफ्टवेयर

स्टेट बैंक के चीफ मैनेजर एस. श्रीधर बाबू ने शिकायत की जांच के बाद बताया कि यस बैंक के जिन एटीएम का इस्तेमाल ग्राहकों ने किया, उनका सॉफ्टवेयर चीन में तैयार हुआ है। यही नहीं, क्लोनिंग करने के बाद इन लाखों कार्डो का इस्तेमाल जिन स्वाइप मशीनों में किया गया, उनका भी सॉफ्टवेयर चीन में निर्मित है।

प्रारंभिक जांच कर कंप्लेंट्स मैनेजमेंट डिपार्टमेंट- बेलापुर के चीफ मैनेजर एस. श्रीधर बाबू ने अधिवक्ता को ई-मेल के जरिये जानकारी दी कि सिर्फ उनका ही नहीं, बल्कि करीब छह लाख ग्राहकों के एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर धन निकासी, ई-कॉमर्स साइट और स्वाइप मशीनों के जरिये खरीददारी में इसका इस्तेमाल किया गया।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???