Patrika Hindi News

एनएसएस विद्यार्थियों को समझाया कैशलेस बनो

Updated: IST Be explained cashless NSS students
भारतीय स्टेट बैंक के अधिकारी पहुंचे अग्रणी कॉलेज और कन्या महाविद्यालय में जानकारी देने

रतलाम। अब डिजीटल बैंकिंग और कैशलेस का जमाना है। इसके साथ हम सभी को चलना है। चाहे कोई भी व्यक्ति हो अब इसी आधार पर अपना ज्यादा से ज्यादा ट्रांजेक्शन करे तो उन्हें काफी सहुलियत हो जाएगी। यह व्यवस्था अब आगे से इसी तरह होने से नकदी लाने-ले जाने की जोखिम से भी बचा जा सकता है।

Be explained cashless NSS students

यह बात भारतीय स्टेट बैंक के मुख्य प्रबंधक ग्राहक सेवा जगदीश डामेशा और उनके सहयोगियों ने अग्रणी महाविद्यालय और कन्या महाविद्यालय में एनएसएस के छात्र-छात्राओं को दी। वे बैंक की तरफ से डिजीटल इंडिया के कांसेप्ट के तहत नोटबंदी के बाद आने वाली समस्याओं के बेहतर निराकरण को लेकर बैंकों के डिजीटल एप के बारे में जानकारी दे रहे थे। उन्होंने बडी एप, इंटरनेट बैंकिंग और एसबीआई एप की विस्तार से जानकारी देकर एनएसएस विद्यार्थियों को बताया कि अब पुराना जमाना लद गया है जब हम नकदी लेकर व्यापार करते थे, हर वस्तु खरीदने या बेचने के लिए नकदी का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करते। उनके साथ स्टेट बैंक की कलेक्टोरेट शाखा के मुख्य प्रबंधक विजयकुमार चत्तर, कोणार्क चौरसिया, राजकुमारसिंह सोनगरा, कपिल आदि ने भी विद्यार्थियों को एप और इंटरनेट बैंंकिंग के बारे में जानकारी दी।

परीक्षा के बाद लगातार

कॉलेजों में सेमेस्टर की परीक्षाएं शुरू होने वाली है। इसलिए फिलहाल केवल एनएसएस के विद्यार्थियों को ही इसकी जानकारी दी गई। परीक्षा समाप्त होने के बाद सभी कक्षाओं बच्चों को इन एप के बारे में बैंक की तरफ से जानकारी दी जाएगी। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी शिविर लगाकर लोगों को जागरुक किया जाएगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???