Patrika Hindi News

आज से न्याय के देवता शनिदेव चलेंगे उल्टी चाल

Updated: IST
कन्या-मकर-मिथुन राशि को लाभ, अलग-अलग राशियों के जातको पर पड़ेगा असर

रतलाम। शनिदेव को न्याय का देवता कहा गया है, जो व्यक्ति जैसा कर्म करता वे वैसा ही फल भी उसे देते हैं। शनिदेव 21 जून यानि आज सुबह 4 बजकर 42 मिनट से वक्री होकर वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे, जो 26 अक्टूबर तक रहेंगे। शनिदेव का वृश्चिक राशि में वक्री होना शुभप्रद नहीं माना जाता है। ज्योतिषियों के अनुसार 10 जुलाई तक शनि व मंगल का षडास्टक योग प्रकृति में अनेक उतार-चढ़ाव लाएगा। सामाजिक रुप से अंादोलन बढेंगे। जो जैसा कर्म करेगा, उसको न्याय के देवता वेसा फल देंगे।

ये होगा अधिक असर

ज्योतिष संजय शिवशंकर दवे के अनुसार शनि के वृश्चिक राशि में वक्री होने से भूकंपादि, प्रकृति प्रकोप से जन-धन की हानि होने के साथ ही महंगाई भी बढऩे की संभावना व्यक्त की जा रही है। वहीं जातकों को पर इनके वक्री होने से अलग-अलग राशियों के अनुसार प्रभाव रहेंगे। इन प्रभावों से रक्षा शनिदेव को प्रसन्न कर किया सकता है।

मिलेगा पद प्रतिष्ष्ठा, होगा धनलाभ

ज्योतिषी दवे के शनिदेव के वक्री होने पर कन्या राशि वाले जातकों को पद प्रतिष्ठा में वृद्धि, दृव्य लाभ, व्यवसाय में सफलता और संतान सुख की प्राप्ति के योग बन सकते है। इसी प्रकार मकर राशि वालों को धनलाभ, भूमि, मकान का विशेष लाभ और तीर्थ यात्रा के योग बनेंगे। मिथुन राशि वालों को धनलाभ के साथ दांपत्य सुख, अचल संपत्ति की प्राप्ति हो सकती है।

शेष राशि के जातक ये करें उपाय

मेष राशि वाले जातक शनि के अष्टम होने से शारीरिक, मानसिक कष्ट, नौकरी-व्यवसाय में बाधा, वाहन दुर्घटना तथा राजभयादि बना रहेगा। इसके लिए उन्हे रामचरित मानस के सुंदरकांड का पाठ करना उचित रहेगा।

वृषभ राशि वालों को मानसिक पीड़ा, गृह क्लेश, नौकरी धंधों में परेशानी, भागीदारी में हानि, निरर्थक व्यय, कार्यों में बाधा रहेगी। इसलिए आपको पीपल के पौधे का रोपड़ मंदिर या उद्यान में शनिवार के दिन करना श्रेष्ठ रहेगा।

कर्क राशि वालों को व्यापार में परेशानी, मानसिक अशांति बनी रहेगी, इसलिए हनुमानजी को तेल का दीपक तथा बच्चों के लिए वस्त्र दान करें।

सिंह राशि- चतुर्थ शनि होने से यात्रा कष्ट, संबंधियों से विवाद, मित्रों से छल, धन की कमी रहेगी। इसलिए शनिवार को काले वस्त्र में उड़द का दान करे तथा चंदन तिलक लगाए।


तुला राशि- कुटुंब क्लेश, शारीरिक पीड़ा, व्यवसाय में हानि मित्रों से विरोध हो सकता है। इसलिए हनुमानजी को चोला चढ़ाए, बच्चों को अध्ययन सामग्री का वितरण करें।

वृश्चिक राशि-जीवन साथी से मनमुटाव, भ्रमण, ईष्ट मित्रों से मतभेद रहेगा। जातक हनुमान मंदिर में राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करें, मुक्तिधाम में पीपल के पौधे के रोपड़ करे।

धनु राशि- शारीरिक कष्ट, निरर्थक अपव्यय, परिवार में मनमुटाव, व्यवसाय में हानि की संभावना बनती है। इसलिए राम चरित मानस का पाठ करे, जरुरतमंद को वस्त्रों का दान करें।

कुंभ राशि-परिवार में स्वास्थ्य संबंधि दिक्कत, व्यापार में परिवर्तन, धन का व्यय बना रहेगा। इसलिए जरुरत मंद को पादुका का दान करे। मंदिर प्रांगण में अशोक के पौधे का रोपड़ करे।

मीन राशि- व्यवसाय परिवर्तन, भाइयों से मतभेद मित्रों से विवाद ही संभावना बनेगी। इसलिए शनिवार को जरुरतमंद को फल व अन्न का दान करे। राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करना उत्तम रहेगा।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???