Patrika Hindi News

प्रमुख सचिव उद्योग ने दिलाया भरोसा रतलाम औद्योगिक हब बनेगा

Updated: IST Ratlam News
प्रमुख सचिव उद्योग वीएल कांताराव ने बुधवार को प्रशासनिक अमले के साथ जावरा एवं रतलाम में औद्योगिक क्षेत्र का भ्रमण कर बंद पड़ी इकाइयों का मौका मुआयना किया।

रतलाम। औद्योगिक पहचान को वापस पाने में जुटे जिले में उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव ने दस्तक दी। लंबे समय से उद्योग जगत किसी प्रभावी दौरे का इंतजार कर रहा था, लेकिन प्रमुख सचिव का शुरूआती दौरा खानापूर्ति बन गया। जहां उद्योगपतियों को साथ ले जाने की जरूरत थी वहां अफसरों के साथ सैर कर ली, हालांकि दोपहर बाद जब दबाव दिखा तो आनन-फानन में उद्योग संगठनों को साथ ले बंद कमरें में बैठ गए।

प्रमुख सचिव उद्योग वीएल कांताराव ने बुधवार को प्रशासनिक अमले के साथ जावरा एवं रतलाम में औद्योगिक क्षेत्र का भ्रमण कर बंद पड़ी इकाइयों का मौका मुआयना किया। करमदी में नमकीन क्लस्टर की तैयारियों का जायजा लिया। रतलाम के नमकीन की मार्केटिंग व हब के साथ ही क्लस्टर के लिए कामन फेसिलिटेशन सेंटर का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। प्रमुख सचिव ने कहा कि करमदी में रतलाम-झाबुआ रोड पर नमकीन उत्पादों के प्रदर्शन एवं रिटेल विपणन के लिए सेंटर बनाने को भी कहा।

भूमि की पड़ताल करने के निर्देश

कलेक्टर बी चन्द्रशेखर ने एसडीएम सुनील कुमार झा को भूमि की पड़ताल करने के निर्देश दिए। एल्कोहल प्लांट की बंद पड़ी इकाई का अवलोकन किया। प्रमुख सचिव उद्योग कांताराव के साथ उद्योग जगत से जुड़े संगठन के करीब 25 कारोबारियों ने बंद कमरे में भी चर्चा की। राज्य योजना आयोग उपाध्यक्ष एवं विधायक चेतन्य काश्यप की मौजूगी पर विकास योजनाओं पर चर्चा दौरान लाभ मिलने की बात कही गई। विधायक शामिल नहीं थे। वहीं, चर्चा के दौरान प्रमुख सचिव को जब शहर के औद्योगिक विकास के कुछ तथ्य बताए गए तो उन्होंने कहा कि पहले जो जानकारी दी गई है, उसमें कुछ गलत है तो दोषियों पर कार्रवाई होगी।

उद्यमियों के साथ यह चर्चा

प्रमुख सचिव उद्योग ने दोपहर बाद कलेक्टोरेट सभाकक्ष में उद्योग संघ एवं उद्योगों से जुड़े विभिन्न संघों के पदाधिकारियों के साथ बैठक में चर्चा की। उन्होंने कहा कि दिल्ली-मुम्बई इण्डस्ट्रीयल कारिडोर में रतलाम को मेजर इण्डस्ट्रीयल हब के रूप में विकसित करने के प्रयास हो रहे हैं। अब तक इस क्षेत्र विकास के लिए 20 करोड़ रुपए दिए गए हैं। उद्यमियों की समस्याओं के निराकरण के लिए जिला प्रशासन माह में एक बार सभी औद्योगिक संघों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक करेगा। बैठक में जावरा उद्योग संघ, रतलाम उद्योग संघ, नमकीन क्लस्टर संघ, अनाज व्यापारी एसोसिएशन व अन्य संघों के सदस्यों ने प्रमुख सचिव को औद्योगिक क्षेत्रों में बिजली, पानी एवं सड़क की समस्या की जानकारी दी।

बिजली समस्या दिसम्बर तक हल

प्रमुख सचिव ने बताया कि बिजली समस्या आगामी 5 दिसम्बर तक हल कर ली जाएगी। औद्योगिक क्षेत्र में सड़क समस्या के निराकरण में उन्होने बताया कि 91 लाख रुपए की सड़क की स्वीकृति प्रदान की गई थी, लेकिन विवाद के कारण स्वीकृति निरस्त कर दी गई थी, अब स्वीकृति पुन: कर दी जाएगी। बिजली के लिए उन्होंने एकेवीएन को 24 लाख की राशि से खम्बे एवं प्रकाश व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

अफसरों के साथ भी मंथन

प्रमुख सचिव उद्योग ने कलेक्टोरेट सभाकक्ष में विभिन्न विभाग प्रमुखों के साथ भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन में रतलाम जिला प्रदेश के 5 जिलों में सम्मिलित है। प्रमुख सचिव ने जिला व्यापार, उद्योग केन्द्र एवं बैकिंग प्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए कहा कि यदि लापरवाही सामने आई तो कार्रवाई जरूर होगी। प्रमुख सचिव उद्योग ने जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के अधिकारियों को कहा कि वे नियमित रूप से फालोअप लेते रहे। प्रमुख सचिव ने बताया कि प्रदेश में 8 नोडल बैंक बनाये है, जिनके खातों में एडवांस मार्जिन मनी जमा करा दी जाती है।

बेहतर प्रदर्शन पर संतोष जताया

इस स्थिति में कोई भी किसी भी हितग्राही को सब्सिडी के फायदे देने से मना नहीं कर सकता है। उन्होने जिले में विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में दूसरें जिलों से तुलनात्मक रूप से बेहतर प्रदर्शन पर संतोष जताया। बैठक में कलेक्टर बी चन्द्रशेखर, अपर संचालक उद्योग अजय चैबे, महाप्रबंधक व्यापार एवं उद्योग केन्द्र जीके तिवारी व एलडीएम केके सक्सेना व अन्य अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में प्रमुख सचिव ने उद्यमियों के प्रस्तावों पर आगामी दिसम्बर माह तक कार्ययोजना बनाने के लिए कहा है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???