Patrika Hindi News

Video Icon चोरी की राशि का किया बंटवारा, एक ने खरीदी नई बाइक, चढ़े पुलिस के हत्थे

Updated: IST Ratlam
- रिंगनोद थाना क्षेत्र स्थित ढोढर में सीमेंट और बर्फ व्यापारी की दुकान की थी चोरी, पुलिस ने किया माल बरामद

रतलाम। रिंगनोद थानांतर्गत अंतर्गत ढोढर में सीमेंट और बर्फ व्यापारी की दुकान नौ दिन पहले हुई ढ़ाई लाख रुपए से अधिक की चोरी की वारदात का पुलिस ने शुक्रवार को खुलासा कर दिया। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे नकदी, एक बाइक व कुछ औजार भी जब्त किए हैं। जब्त की गई बाइक एक आरोपी चोरी की रकम से खरीदी थी।

चोरी की इस वारदात का खुलासा एसपी अमितसिंह ने शुक्रवार को कंट्रोल रूम पर किया। एसपी ने बताया कि मामले में पुलिस ने राजस्थान के बारा जिले के कडेयार बोहरा निवासी बनवारी उर्फ देवराज व झाबुआ जिले के कल्याणपुरा स्थित दावड़ीपाड़ा निवासी शंकर को पकड़ा है। पूछताछ में 2.58 लाख रुपए की नकदी सहित करीब 4-5 हजार की चिल्लर और तीन मोबाइल चोरी करने की बात कबूली गई।


बंटवारा कर खरीदी बाइक

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि चोरी के बाद उन्होंने रुपए आपस में बांट लिए थे। एक ने उस राशि से अगले ही दिन 50 हजार रुपए में नई मोटर साइकल भी खरीद ली थी। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 1 लाख 73 हजार रुपए नकद व खरीदी गई बाइक व चोरी गए तीनों मोबाइल फोन व औजार भी जब्त कर लिए है।


एक आरोपी था ग्राहक

प्रेसवार्ता में आए पीडि़त व्यापारी कैलाशचंद्र ने बताया कि वह दुकान में गुटखा-पाउच भी रखता है। पकड़ाए आरोपियों से एक उसकी दुकान पर कई बार गुटखा-पाउच खरीदने भी आता था। उन्हीं के द्वारा दुकान पर नजर रखकर रुपए जिस दिन आए थे, उस दिन वारदात को अंजाम दिया गया था। सीसीटीवी कैमरे में उसके जैसा चेहरा नजर आने के बाद पुलिस को उसके बारे में जानकारी दी थी।


टीम को मिला ईनाम

वारदात का पर्दाफाश करने में रिंगनोद थाना प्रभारी माधवसिंह ठाकुर, एसआई अमित कुशवाह, प्रधान आरक्षक कोदरसिंह, आरक्षक कमलेश पांडे, नरेंद्रसिंह, ललित जगावत, विमल निनामा, रमेश खिचावत, आलोक कुशवाह, रमेश चौहान, साइबर सेल के लक्ष्मीनारायण सूर्यवंशी, मनमोहन शर्मा, रितेश सिंह व हिम्मत सिंह को एसपी अमितसिंह ने दस हजार रुपए का पुरस्कार देने की घोषणा की।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???