Patrika Hindi News

रतलाम जिले के भाजपा विधायक बताएंगे खातों का ब्यौरा

Updated: IST note ban
नोटबंदीकरण के बाद विपक्ष के हमलों का सामना कर रही केन्द्र सरकार और भाजपा ने अब अपने सांसद तथा विधायकों के बैंक खातों का ब्यौरा पार्टी को देने की गाइड लाइन जारी की है।

रतलाम। नोटबंदीकरण के बाद विपक्ष के हमलों का सामना कर रही केन्द्र सरकार और भाजपा ने अब अपने सांसद तथा विधायकों के बैंक खातों का ब्यौरा पार्टी को देने की गाइड लाइन जारी की है। जिले में प्रधानमंत्री की इस सलाह को भाजपा विधायकों ने अपनी प्रतिष्ठा बढ़ाने वाला बताया है। सभी विधायक तय अवधि में पार्टी को ब्यौरा उपलब्ध कराएंगे। वहीं, कांग्रेस इसे प्रचार का हथकंडा बताकर स्टेटमेंट सार्वजनिक करने की मांग कर रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा संसदीय दल की मीटिंग में पार्टी के सभी सांसद- विधायकों को 8 नवंबर से 31 दिसंबर तक उनके खातों से होने वाले लेन-देन का ब्यौरा पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को सौंपेंने के लिए कहा है। यह ब्यौरा एक जनवरी 2017 तक देने को कहा गया है। 'पत्रिकाÓ ने पीएम के इस निर्देश पर जिले के भाजपा विधायकों से बात की। राज्य योजना आयोग उपाध्यक्ष से लेकर वित्त आयोग अध्यक्ष ने स्वागत करते हुए इसे जनप्रतिनिधियों की सामाजिक प्रतिष्ठा को बढ़ाने वाला कदम बताया है। हालांकि कांग्रेस का कहना है कि भाजपा को यह सभी स्टेटमेंट सार्वजनिक भी करना चाहिए, ताकी देश को भी पता चल सकें कि आखिर नोटबंदीकरण के दौरान कहां क्या हुआ है।

खातों की स्थिति

- शहर विधायक: व्यवसाय कारोबारी एवं चुनाव घोषणा पत्र में 3 खाते दर्शाए।

- जावरा विधायक: व्यवसाय कृषि एवं चुनाव घोषणा पत्र में 3 खाते दर्शाए।

- आलोट विधायक: व्यवसाय ट्रांसपोर्ट कारोबारी एवं घोषणा पत्र में 2 खाते।

- सैलाना विधायक: गृहिणी एवं चुनाव घोषणा पत्र में 2 खातों का संचालन।

- ग्रामीण विधायक: व्यवसाय कृषि एवं चुनाव घोषणा पत्र में 3 खाते दर्शाए।

विधायकों ने कहा, बैंक स्टेटमेंट से बढ़ेगा विश्वास

एक और साहसभरा कदम

जावरा विधायक डॉ. राजेन्द्र पांडेय ने भी पार्टी को बैंक स्टेटमेंट देने के फैसले को साहसभरा कदम बताया है। डॉ. पांडेय ने कहा कि भाजपा का हर कार्यकर्ता अनुशासित है और नोटबंदीकरण के बाद अफवाह फैला रहे विपक्ष को जनता जवाब दे रही है। सांसद और विधायक अपने अपने बैंक खातों का ब्यौरा तय अवधि में पार्टी को देंगे।

सबसे पहले स्टेटमेंट

आलोट विधायक जितेन्द्र गेहलोत का कहना है कि पार्टी अध्यक्ष को सबसे पहले मैं अपने खाते का पूरा ब्यौरा उपलब्ध कराऊंगा। कालाधन रोकने और भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिए प्रधानमंत्री ने जो मुहिम शुरू की है, उसे देशभर में जनता का समर्थन मिल रहा है। पार्टी में यह व्यवस्था लागू कर प्रधानमंत्री ने एक और कदम उठाया है, इसका स्वागत है।

भ्रष्टाचारमुक्त होगा देश

सैलाना विधायक संगीता चारेल ने कहा कि नोटबंदीकरण के बाद कैशलेस व्यवस्था की ओर कदम बढ़ाया जा रहा है। देश की अर्थव्यवस्था मजबूत हो रही है। प्रधानमंत्री ने मौका दिया है, ताकी भ्रष्टाचारमुक्त देश के निर्माण में मिसाल कायम कर सकें। पार्टी अध्यक्ष को एक जनवरी को ही स्टेंटमेंट जमा करा देंगे।

जनता में बढ़ेगा विश्वास

रतलाम ग्रामीण विधायक मथुरालाल डामर ने भी पार्टी अध्यक्ष को बैंक स्टेटमेंट देने के निर्देश को वर्तमान परिस्थितियों में उचित कदम बताया है। विधायक डामर का कहना है कि विधायक और सांसदों के इस कदम से आम जनता में उनका विश्वास और बढ़ेगा। जनता की जागरुकता और विश्वास के बाद देश का विकास में सभी एक साथ आगे बढ़ पाएंगे।

सबकुछ पारदर्शी

भाजपा का हर नेता और कार्यकर्ता कालाधन और भ्रष्टाचार समाप्त करने के प्रति संकल्पित है। देश की सरकार इस दिशा में ऐतिहासिक फैसला कर चुकी है, अब पार्टी को जनप्रतिनिधियों के बैंक खातों का ब्यौरा देने की इस व्यवस्था सेे और पारदर्शी स्वरूप मिलेगा।

- हिम्मत कोठारी, अध्यक्ष वित्त आयोग मप्र

सार्वजनिक हो ब्यौरा

भाजपा अध्यक्ष को पार्टी के सांसद और विधायक अपने बैंक खातों का ब्यौरा देंगे, यह सार्वजनिक भी होना चाहिए। ताकि जनता को भी पता चल सकें कि कौन कहां खड़ा है। जनता के बीच पारदर्शिता के साथ नेताओं की छवि भी स्पष्ट
हो जाएगी।

- प्रभु राठौर, जिलाध्यक्ष कांग्रेस रतलाम

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
More From Ratlam
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???