Patrika Hindi News

ऋषिकेश में एक मार्च से होगा अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव

Updated: IST international yoga festival
अन्तरराष्ट्रीय योग महोत्सव में विश्व के 20 विभिन्न देशों के 70 से अधिक संत और योगाचार्य भी शामिल हो रहे हैं

उत्तराखंड के ऋषिकेश में परमार्थ निकेतन, केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय, उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड और गढ़वाल मण्डल विकास निगम द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित 29वें वार्षिक अन्तरराष्ट्रीय योग महोत्सव कल से शुरू हो रहा है। इसमें भाग लेने के लिये प्रतिभागी, योग जिज्ञासु और देसी-विदेशी योग विद्यार्थी परमार्थ निकेतन में पहुंच रहे हैं।

यह भी पढें: एक कटोरी पानी से बदल जाएगी किस्मत, इस बात का ध्यान रखें

यह भी पढें: घर से निकलते समय ध्यान रखें ये बात तो हर काम होगा पूरा, प्राप्त होगी लक्ष्मी

यह भी पढें: शनि की साढ़ेसाती और दशा में करें ये उपाय, हो जाएंगे मालामाल

इस महोत्सव में विश्व के 20 विभिन्न देशों के 70 से अधिक संत और योगाचार्य भी शामिल हो रहे हैं। इस बार इसमें शामिल होने के लिये विश्व के लगभग 100 देशों के 1200 से अधिक प्रतिभागी भी भाग ले रहे हैं। इस बार महोत्सव की विशिष्टता यह है कि दो मार्च को दोपहर बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विडियो कान्फ्रेन्स के माध्यम से प्रतिभागियों को सम्बोधित करेंगे।

परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज ने महोत्सव में सभी का अभिनंदन करते हुए कहा कि आप सभी इस योग महापर्व में ध्यान और योग की उच्चस्तरीय विधाओं के साथ आत्मिक तथा आध्यात्मिक उन्नति के शिखर को प्राप्त कर पाएंगे। योग हमें स्वस्थ तन और प्रफुल्लित मन के साथ विश्व एक परिवार है का मूल मंत्र सिखाता है।

यह भी पढें: हाथी जैसी ताकत चाहिए, आज ही शुरु करें ये उपाय

यह भी पढेः यहां पर है भगवान परशुराम का फरसा, आज भी 15 किलोमीटर के एरिए में फैला है खौफ

इस महोत्सव की निदेशक साध्वी भगवती सरस्वती ने कहा, "योग आपके लिये क्षण मात्र का अनुभव नहीं होता अपितु चारों पहर की अनुभूति हो जाता है।" चीन से आई डिफांग लिन झाऊ ने कहा, "इतने सारे लोग एक ही उद्देश्य के लिये यहाँ पर एकत्रित हुए है इसलिए हमारे लिए यह आन्दोत्सव का क्षण है।" ईरान से आयी शर्मिनेह ने कहा, "पूर्व में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का विडियो देखकर मैं उत्साह से भरी हुई थी। यहाँ आकर मैं अब आनन्द से विभोर हूँ।"

यह भी पढेः सिर्फ हवा खाकर जिंदा रहते थे बाबा पयोहारी, और भी हैं चमत्कार

यह भी पढेः इन 10 उपायों से आप भी कुंडली के ग्रहों को बंदी बना सकते है

कनाडा की ऐन मैरी ने कहा, "ऋषिकेश मेरे हृदय में बसता है; यहाँ पर दूसरी बार आकर मैं बेहद खुश हूं।" योगागुरू डॉ आण्ड्रिया पेज ने कहा, "यह महोत्सव प्राचीन भारतीय आदर्शों और पश्चिमी विकासवादी प्रयोगों का उत्कृष्ट संगम है। मेरे द्वारा कराए गए योग अभ्यासों का सम्बन्ध योगियों के गहन निरिक्षण से है तथा उनके योग अभ्यासों के विस्तार के लिये यौगिक विधा प्रदान करना मेरा उद्देश्य है। हम यहाँ पर योग के भविष्य की रूपरेखा तैयार कर रहे हैं।"

अमरीका से आई लौरा प्लम्ब के कहा, "अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव धरती पर स्वर्ग का अवतरण है। यहाँ पर दुनिया के हर कोने से प्रतिभागी आकर योग परिवार में सम्मिलित होते है। हम एक दूसरे से जुड़े होते हैं; मानो हम एक ही माँ की सन्तान हैं। इसी एकत्व की भावना के साथ अपना उद्धार, औरो की सेवा एवं पारस्परिक प्रेम की प्रगाढ़ता के लिये स्वयं को ऊचां उठाने की कला सीखते हैं।"

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???