Patrika Hindi News

गांवों  में गंदा पानी पीने मजबूर लोग

Updated: IST People forced to drink dirty water in villages, bi
कुछ ग्रामों में ग्रामीण हैंडपंपों का गंदा पानी पीने के लिए मजबूर हैं, लेकिन पीएचईद्वारा अभी तक कोई प्रयास नहीं किए गए हैं। पीएचई द्वारा कभी भी ग्रामीण क्षेत्रों से पानी के सैम्पल भी नहीं लिए जाते हैं, जिससे यह पता चल सके कि पानी में किस पदार्थकी मात्रा ज्यादा और किसकी कम। जांच न होने के कारण प्रदूषित पानी ही ग्रामीण पीते रहते हैं।

बीना.ग्राम मनमति और भाकरई में लंबे समय से ग्रामीणों द्वारा गंदा पानी आने की शिकायतें की जा रही थी। इसके बाद पीएचई ने पानी की जांच कराई तो पानी पीने लायक नहीं बताया जा रहा है। इसके बाद भी गांव में पानी की कोईदूसरी व्यवस्था न होने के कारण ग्रामीण वही पानी पीने मजबूर हैं। यदि लंबे समय तक ग्रामीण यह पानी पीते रहेंगे तो वह बीमार भी हो सकते हैं। ऐसे और भी आसपास के कई ग्राम हो सकते हैं जहां पानी गंदा आ रहा हो, लेकिन पीएचई द्वारा इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जाता है।

बारिश के मौसम में भी लापरवाही

पीएचई विभाग को बारिश के मौसम में अधिकारियों की सख्त हिदायत रहती है कि पानी में समय-समय पर दवा डाली जाए, गंदा पानी हैंडपंप या कुएं में न जाए इसका ध्यान रखा जाए, लेकिन ऐसा होता नहीं। बारिश में भी दवा नहीं डाली जाती हैं और ग्रामीण दूषित पानी पीते रहते हैं।

विधानसभा में उठाया जाएगा मामला

विधायक महेश राय ने बताया कि गंदे पानी के मामले में विधानसभा में ध्यान आकर्षण आज लगाया जाएगा। जिसमें जानकारी मांगी जाएगी। गौरतलब हैकि ग्रामीणों का कहना है कि रिफाइनरी के कारण हैंडपंपों में खराब पानी आ रहा है।

बाहर रखते ही पीला हो जाता है पानी

ग्रामीणों के अनुसार हैंडपंप में पानी तो साफ आता है, लेकिन कुछ देर बाद ही पानी पीला होने लगता है। जिसमें तेल जैसा पदार्थ भी मिला रहता है।

स्कूली बच्चे भी पी रहे गंदा पानी

स्कूली बच्चे भी यही गंदा पानी पीने मजबूर हैं। इस संबंध में बीआरसीसी पीएस राय ने बताया कि पंचायतों को लिखा गया है कि वह अच्छा पानी स्कूल में उपलब्ध कराएं, जिससे बच्चे बीमार न हो पाए।

बीच-बीच में लेते हैं सैंपल

पानी के सैंपल लिए जाते हैं। यदि तेल मिले होने की बात सामने आ रही है तो केमिकल टैस्ट कराया जाएगा।

एके तिवारी, सबइंजीनियर, पीएचई

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???