Patrika Hindi News

> > > > people form bediya community force girls to do Prostitution after 8th class

8वीं पढऩे के बाद देह व्यापार में झोंकी जा रही बेडिय़ा समाज की बेटियां: ठाकुर

Updated: IST bediya community, force girls to do Prostitution,
ये प्रदेश की बेटियां हैं, इनके भले के लिए हर कदम उठाएंगे, पैसे की कमी नहीं आने देंगे, 12 वीं तक शिक्षा अनिवार्य करने और इनके राई नृत्य करने पर प्रतिबंध लगवाने उठाएंगे आवाज।

शशिकांत [email protected]बेडि़या समाज की लड़कियां आठवीं के आगे पढ़ ही नहीं पा रही हैं। किशोरावस्था की दहलीज पर आते ही उन्हें राई नृत्य सिखाकर देह व्यापार में झोंक दिया जाता है। ये प्रदेश की बेटियां हैं, इन्हें देह व्यापार का साधन नहीं बनने दिया जाएगा। अब इनकी शिक्षा और रोजगार के लिए चाहे कुछ भी हो जाए लेकिन बजट की कमी नहीं आने दी जाए, इसके लिए हम सरकार से बात करेंगे।

विधानसभा सचिवालय की समिति का नेतृत्व कर रही विधायक उषा ठाकुर ने सदस्यों के साथ गुरुवार को पथरिया बेडऩी गांव स्थित सत्य शोधन आश्रम का निरीक्षण किया। ठाकुर ने कहा, राई को लोकनृत्य और परंपरा से जोडऩा गलत है। यदि यह लोकनृत्य है तो यह सभ्य समाज का हिस्सा क्यों नहीं बन सका। जिस चंपा बेन ने यहां की महिलाओं को नारकीय जीवन से निकालने की प्रेरणा दी वहां के स्थितियां एेसी होंगी सोचा भी नहीं था।

कुछ वर्षों में पिता के नाम बदलते रहते हैं
हद तो यह है कि यहां पढ़ रहे बच्चों के पिता के नाम बदलते रहते हैं। सत्य शोधन आश्रम को मिलने वाला अनुदान भी कम है और यहां काम करने वालों को भी पर्याप्त मानदेय नहीं मिलता। हम अपनी रिपोर्ट में सरकार से बजट बढ़ाने की अनुसंशा भी करेगें। सुरखी विधायक पारूल साहू ने बताया कि गांव का नाम में से बेडऩी भी हटना चाहिए इस दिशा में विभाग के अधिकारियों से प्रक्रिया शुरू करने को कहा गया है।

समाज के भले के लिए सरकार से ये मांगें करेगी समिति
- बेडि़या समाज में राई प्रतिबंधित हो।
- राई नृत्य को परंपरा बताना और लोकनृत्य का दर्जा देना गलत।
- पथरिया बेडऩी में कक्षा 12 वीं तक की स्कूल खोलने की सिफारिश।
- युवतियों के रोजगार की व्यवस्था।
- जागरुकता के लिए स्वास्थ्य व अन्य विभाग टीमों को भेजने की मांग।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे