Patrika Hindi News

खुलने लगी शिक्षा व्यवस्था की पोल

Updated: IST Poles of open education system, bina news, sagar n
जो पिछले वर्ष स्कूलों का हाल तो वहीं हाल इस सत्र में भी हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में कई-कई दिन स्कूल खुलते ही नहीं है या फिर दोपहर में ही ताला डल जाते हैं। इसके बाद भी इन लापरवाह शिक्षकों पर कड़ी कार्रवाईकरने की जहमत अधिकारी नहीं उठा रहे हैं, सिर्फ नोटिस जारी करते हैं। जिससे कहीं न कहीं अधिकारियों की भूमिका भी संदिग्ध है।

बीना.सोमवार को बीजीसी नीलिमा दूरवार, जनशिक्षक महेन्द्र जैन, मनीष जैन द्वारा भानगढ़ क्षेत्र के स्कूलों का निरीक्षण किया गया। जिसमें प्राथमिक स्कूल बलारखेड़ी 1.30 बजे बंद मिली। इसके बाद आमखेड़ा प्राथमिक स्कूल का निरीक्षण 1.45 बजे किया गया तो यहां भी ताला लटका हुआ मिला। प्राथमिक स्कूल करोंदा जो अधिकांश ही बंद रहा है वह सोमवार को 2.10 बजे बंद मिला। इस संबंध में बीजीसी द्वारा शिक्षकों का वेतन काटने के लिए संकुल प्राचार्यको प्रतिवेदन दिया है और एक कॉपी बीआरसीसी कार्यालय में भी दी गईहै। गौरतलब है कि इन लापरवाह शिक्षकों के ऐसे कई प्रतिवेदन पिछले वर्षों में भी सौंपे गए हैं, लेकिन हुआ कुछ नहीं है। यदि इनपर सख्त कार्रवाईहोती तो शायद स्कूल खुले मिलते।

यूपी से आते हैं शिक्षक

भानगढ़ क्षेत्र में करोंदा स्कूल सहित आसपास के अन्य स्कूलों में शिक्षक यूपी के ललितपुर से आते हैं। वह मुख्यालय में रूकने की बजाय ट्रेन से अपडाऊन करते हैं। यदि ट्रेन समय पर आ गई तो स्कूल समय पर खुल जाएगा नहीं तो 11 से 12 बजे के बीज में स्कूल खुलता है। इसके बाद शिक्षकों को छुट्टी के समय से पहले ही ट्रेन का समय मिलाना होता हैतो वह कभी 2 बजे, कभी 3 बजे स्कूल में ताला लगा देते हैं या फिर स्कूल खोला ही नहीं जाता है। इन लापरवाह शिक्षकों के कारण विद्यार्थियों का भविष्य खतरे में नजर आ रहा है।

घट रही है विद्यार्थियों की संख्या

सरकारी स्कूलों में पढ़ाई न होने के कारण स्कूलों में साल दर साल विद्यार्थियों की संख्या घटती जा रही है। यदि यही हाल रहा तो ग्रामीण क्षेत्रों के कई स्कूल बंद हो जाएंगे। इसके बाद भी अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

काटा जाएगा वेतन

स्कूल बंद होने का प्रतिवेदन मिला है। लापरवाही शिक्षकों का वेतन काटेंगे। यदि आगे भी लापरवाही कम नहीं होगी तो वरिष्ठ अधिकारियों के यहां रिपोर्ट भेजकर कार्रवाईकराईजाएगी। पिछले वर्षों में भी लापरवाह शिक्षकों के वेतन काटे गए हैं।

संजय ताम्रकार, संकुल प्राचार्य, भानगढ़

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???