Patrika Hindi News

चक्काजाम कर रहे किसानों पर पुलिस ने बरसाईं लाठियां

Updated: IST Police ransacked farmers
तहसीलदार व सीएसपी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। किसानों को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे सड़क से हटने तैयार नहीं थे। इसके बाद मोतीनगर पुलिस ने जाम खोलने के लिए बल प्रयोग करते हुए किसानों पर लाठियां बरसा दीं। कुछ किसानों को पकड़कर वाहन में डाल दिया। पुलिस की इस कार्रवाई के बाद किसानों ने चक्काजाम समाप्त कर दिया।

सागर. कृषि उपज मंडी में हम्मालों और व्यापारियों की मनमर्जी से परेशान किसान शुक्रवार को सड़क पर उतर आए। बीना- सागर मार्ग पर किसान करीब दो घंटे तक सड़क पर जमे रहे। तहसीलदार व सीएसपी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। किसानों को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे सड़क से हटने तैयार नहीं थे। इसके बाद मोतीनगर पुलिस ने जाम खोलने के लिए बल प्रयोग करते हुए किसानों पर लाठियां बरसा दीं। कुछ किसानों को पकड़कर वाहन में डाल दिया। पुलिस की इस कार्रवाई के बाद किसानों ने चक्काजाम समाप्त कर दिया।

- यह थी किसानों की मांगें

चक्काजाम कर रहे किसानों के आरोप थे कि उन्हें व्यापारी एेसे चेक से भुगतान कर रहे हैं, जिसे क्लियर होने में 10 से 15 दिन का समय लग रहा है। तुलाई में भी 1 से 2 किलो अनाज की चोरी की जा रही है और मंडी में हम्मालों ने फिर से दाना प्रथा शुरू कर दी है। 10-15 किलो दाना उठा लिया जाता है। यह सब मंडी प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारियों की नाक के नीचे हो रहा है, लेकिन न तो कोई कार्रवाई की जा रही है और न ही व्यवस्था को सुधारा जा रहा है।


- दो घंटे लगा रहा जाम

किसानों के चक्काजाम करने से बीना-सागर मार्ग पर वाहनों के पहिए थम गए और लंबी कतार लग गई। चूंकि चक्काजाम मंडी के समीप स्थित चौराहे पर पर किया गया था इसलिए भोपाल व झांसी वायपास भी बंद हो गया। करीब दो घंटे लगे जाम में स्कूली बसों के साथ एम्बुलेंस भी फंसी रही। हालांकि किसानों ने स्कूली बसों व एम्बुलेंस को रास्ता देकर निकाल दिया, लेकिन जाम तोड़कर निकलने का प्रयास कर रहे एक कार चालक की किसानों ने पिटाई कर दी।


- अनाज चोरी करते पकड़े गए हम्माल

मंडी सचिव केपी ताम्रकार ने बताया कि गुरुवार की मंडी प्रशासन ने 3-4 हम्मालों को करीब ढाई-तीन क्विंटल चोरी से अनाज ले जाते पकड़ा था। मंडी प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए अनाज जब्त किया और पकड़े गए हम्मालों को सजा के तौर पर एक सप्ताह के लिए मंडी से निष्कासित कर दिया। मंडी प्रशासन ने स्पष्ट आदेश दिए कि एक सप्ताह तक इन हम्मालों का मंडी में प्रवेश निषेध रहेगा। इसी बात को लेकर हम्मालों ने सुबह से काम बंद कर दिया। चूंकि हम्मालों के काम बंद करने के कारण व्यापारियों ने खरीदी बंद की तो किसानों ने बाहर निकलकर चक्काजाम कर दिया।

किसानों की एेसी कोई खास मांगे नहीं थीं। नोटबंदी के बाद नकद रुपयों की कमी के कारण व्यापारी चेक से भुगतान कर रहे हैं। आरटीजीएस भी एक विकल्प है लेकिन मंडी में रोजना सैकड़ों किसान आते हैं। इसलिए आरटीजीएस में चूक होने की आशंका रहती है और किसान भी खाता संबंधी पूर्ण जानकारी नहीं ला पाते हैं। इन सब बातों को लेकर मंडी सचिव, अध्यक्ष और व्यापारियों के साथ मिलकर किसानों से चर्चा की गई और चक्काजाम समाप्त कराया गया।

मानवेंद्र सिंह, तहसीलदार, सागर

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???