Patrika Hindi News

चाईनीज मांझे के खिलाफ इन तीन जिलाें में चलेगा एेसा अभियान की चकमा खा जाएंगे दुकानदार

Updated: IST chinese manza
चाईनीज मांझे की बिक्री राेकने के लिए

सहारनपुर। सुप्रीम काेर्ट के आदेशाें के बाद सहारनपुर मंडलायुक्त एमपी अग्रवाल ने तीनाें जिलाें सहारनपुर, मुजफ्फरनगर आैर शामली में चाईनीज मांझे के पूर्ण प्रतिबंध के निर्देश दिए हैं। उन्हाेंने कहा है कि एेसे दुकानदार जाे चाईनीज मांझा बेच रहे हैं। उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। इसके लिए पुलिस आैर प्रशासनिक अधिकारी मिलकर तीनाें जिलाें में अभियान चलाए आैर यह सुनिश्चित करें कि किसी भी दुकान पर चाईनीज मांझा के बिक्री ना हाे पाए।

चाईनीज मांझे की बिक्री हुई ताे नपेंगे थानेदार

जारी निर्देशाें में मंडलायुक्त ने कहा है कि चाईनीज मांझे की बिक्री राेकने की जिम्मेदारी एसडीएम आैर थानेदाराें की हाेगी। यदि किसी दुकान पर चाईनीज मांझे की बिक्री हाेती मिली ताे इसका जवाब भी संबंधित थानेदार आैर एसडीएम से लिया जाएगा।

अब एेसे राेकेगी पुलिस

पुलिस ने चाईनीज मांझे की बिक्री राेकने के लिए प्लान तैयार कर लिया है। इसके लिए पहले चरण में पुलिस अपने-अपने थाना क्षेत्राें में एेसे दुकानदाराें काे चिन्हत करेंगी जाे मांझा बेचते हैं। चाईनीज मांझा बेचने वाले दुकानदाराें काे पकड़ने के लिए पुलिस बच्चाें काे अपना मित्र बनाएगी। इन बच्चाें काे बताया जाएगा कि किस तरह से चाईनीज मांझा लाेगाें आैर पशु पक्षियाें की जान का दुश्मन हैं। इसके बाद पुलिस इन बाल मित्राें से पता लगाएगी कि, किन-किन दुकानाें पर चाईनीज मांझे की बिक्री हाे रही है। इसके बाद पुलिस इन दुकानाें पर जाएगी आैर दुकानदार के खिलाफ कार्रवाई हाेगी।

इसलिए हानिकारक है चाईनीज मांझा

दरअसल चाईनीज मांझे की धार बेहद तेज है। यह आसानी से टूटता नहीं है आैर पतंग उड़ाने के दाैरान कई बार यह पेड़ाें, पाेल आैर मकानाें में उलझ जाता है। इसकी धार इतनी तेज हाेती है कि, यह सड़क पर वाहन से जा रहे लागाें से टकराकर उनके शरीर के अंगाें काे काट देता है या फिर आसमान में उड़ रहे पंछी अगर इससे टकरा जाएं ताे उन्हे भी माैत के घाट उतार देता है। अकेले सहारनपुर, शामली आैर मुजफ्फरनगर में चाईनीज मांझे से कई घटनाएं हाे चुकी हैं आैर यह स्कूली बच्चाें तक काे घायल कर चुका है।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???