Patrika Hindi News

Photo Icon चैत्र नवरात्रि इस बार 8 दिन की, जाने क्यों

Updated: IST satna news
शक्ति साधना में द्वितीया तिथि का क्षय होने से नवरात्रि एक दिन कम की होगी। पुरोहितों के अनुसार तिथियों का मान 60 घटी का होता है।

सतना। शक्ति साधना में द्वितीया तिथि का क्षय होने से नवरात्रि एक दिन कम की होगी। पुरोहितों के अनुसार तिथियों का मान 60 घटी का होता है। ग्रहराज सूर्य एवं चंद्रमा के उदय एवं अस्त के समय में परिवर्तन होने से तिथियां घटती, बढ़ती रहती है। पंचांगानुसार चैत्र शुक्लपक्ष 29 मार्च को प्रतिपदा तिथि सूर्योदय पश्चात् प्रात: 06.22 बजे तक है।

उसके बाद द्वितीया तिथि लग जायेगी। जो, 29-30 मार्च को सुबह 04.34 बजे तक रहेगी। तत्पचात् तृतीया तिथि लगेगी जो 30 की रात्रि 02.22 बजे तक होगी। सूर्योदय के समय द्वितीया तिथि इस पक्ष में किसी भी दिन न होने से उसका क्षय होगा। यह पक्ष 14 दिवस का तथा चैत्र नवरात्र आठ दिवस की होगी। चैत्र नवरात्र 29 मार्च से 05 अप्रैल तक है।

घट स्थापना मुहूर्त

घट स्थापना मुहूर्त 29 मार्च की सुबह 06.32 बजे से है। कलश स्थापना कर दुर्गा सप्तशती का पाठ प्रारंभ किया जा सकेगा। विकल्प में मध्यान्ह अभिजीत मुहूर्त मध्यान्ह 11.36 बजे से 12.24 बजे तक रहेगा। यह समय भी उपयुक्त रहेगा।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???