Patrika Hindi News

> > > > Fifteen million to recover the kidnapped accountant

डेढ़ करोड़ की रिकवरी लेने गए मुनीम का अपहरण

Updated: IST satna news
बिहार में वारदात...

सतना। एक जमीन कारोबारी के मुनीम का बिहार में अपहरण कर लिया गया। वह डेढ़ करोड़ रुपए की रिकवरी के लिए गया था। लेकिन इस मामले में बात बिगड़ गई और नेपाल बार्डर के पास से अज्ञात लोगों ने बंदूक दिखाकर उसका अपहरण कर लिया। किसी तरह मुनीम ने इसकी सूचना अपने पुत्र को दी। इस पर यह जानकारी कोलगवां टीआई को दी गई। मामले में कोलगवां टीआई ने बिहार के संबंधित थाने के टीआई से संपर्क किया, लेकिन उसने सहयोग से इनकार कर दिया।

इस बात पर कोलगवां टीआई और बिहार के थाना प्रभारी से तू-तू मैं-मैं भी हुई। हालांकि इसके बाद स्थानीय पुलिस इस मामले में आगे नहीं बढ़ी। वहीं थाने में मौजूद एक व्यक्ति के सहयोग से पकड़ छुड़वाई गई। मामले में लेनदेन किया गया या बिहार पुलिस का दबाव काम आया यह स्पष्ट नहीं हो सका है। उधर पूरे मामले से एसपी ने जानकारी होने से इनकार कर दिया है।

सूत्रों के अनुसार, जमीन कारोबारी रामसिया कुशवाहा का मुनीम शिवनाथ गुप्ता लगभग डेढ़ करोड़ रुपए की रिकवरी के लिये बिहार गया था। बिहार में संबंधित स्थल पहुंचने तक उसका संपर्क परिजनों से रहा, लेकिन इसके बाद अचानक संपर्क से बाहर हो गया। पत्रिका से शिवनाथ के बेटे लक्ष्मीकांत ने बताया कि उन्हें कहीं से पिता ने बताया कि उनका अपहरण कर लिया गया है और कुछ लोग बंदूक की नोक पर बिहार बार्डर के पास से उसे उठाकर अज्ञात स्थान पर बंधक बना लिए हैं। यह जानकारी मिलने पर तत्काल कोलगवां थाने पहुंच कर इस जानकारी से टीआई को अवगत कराया और मदद मांगी।

बिहार पुलिस बोली-खुद आकर खोज लो

कोलगवां टीआई इंद्रेश त्रिपाठी के अनुसार, शिवनाथ के पुत्र लक्ष्मीकांत उनके पास रविवार को आए थे। बिहार में पिता के अपहरण की जानकारी दी। इस पर संबंधित थाना प्रभारी से संपर्क कर उनसे मदद मांगी गई लेकिन उन्होंने सहयोग से साफ इनकार कर दिया और कहा कि खुद आकर खोज लो। इस पर उनसे आपत्ति जाहिर की गई।

हुई तू-तू मैं-मैं

सूत्रों का कहना है कि जब कोलगवां कोतवाल ने बिहार पुलिस से मदद मांगी और वहां से सहयोग से इंकार कर दिया तो इस दौरान लगभग 15 मिनट तक कोलगवां कोतवाल और बिहार के थाना प्रभारी से तीखी नोंकझोंक हुई। लेकिन वहां से मदद का कोई संकेत नहीं मिला।

नहीं मिली मदद

बताया गया है कि इस मामले में सतना पुलिस ने कोई प्रकरण कायम नहीं की और न ही कोई मदद उपलब्ध करा सकी। लेकिन थाने में ही मौजूद एक व्यक्ति को इसकी जानकारी मिलने पर उसने अपने संबंधों के सहारे बिहार पुलिस से संपर्क कर मदद दिलाई।

कनपटी पर बंदूक रख देते रहे धमकी

लक्ष्मीकांत ने बताया कि जब संपर्क के सहारे बिहार एसपी से बातचीत हुई और पुलिस सक्रिय हुई तो अपहरणकर्ता उनके पिता को कुरसेला थाना के पास छोड़ गये। जिन्हें वे अपने साथ लेकर वापस आ रहे हैं। उन्होंने जिस स्थान से पत्रिका से बात की, बताया कि यह स्थान अभी सुरक्षित नहीं है। उन्होंने यह भी बताया कि अपहरणकर्ता उनके पिता की कनपटी पर बंदूक लगाकर लगातार धमकियां दे रहे थे।

पुलिस अधीक्षक को जानकारी नहीं

दूसरे राज्य में जिले के एक व्यक्ति का अपहरण होने जैसा सनसनीखेज मामला जो पुलिस थाने तक पहुंच गया इस संबंध में पुलिस अधीक्षक मिथिलेश शुक्ला से जानकारी ली गई तो उन्होंने इस संबंध में किसी भी तरह की जानकारी से इनकार किया।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???