Patrika Hindi News

MP के इस गांव में खुलेगी आेपन लाइब्रेरी, बरगद के छांव में सुधरेगा शिक्षा का स्तर

Updated: IST Panna Janvar Village
इनोवेशन: गुरुकुल जैसा होगा माहौल, पन्ना स्थित जनवार विलेज में खुलेगी आेपन लाइब्रेरी, सतना का मुक्ति क्लब ट्रस्ट देगा पचास हजार का अनुदान।

ज्योति गुप्ता @ सतना। खुला आसमान, बरगद का पेड़। उस पर लगीं सोलर लाइटें और पेड़ की शाखाओं पर लटकतीं छोटी-छोटी अलमारियां। अलमारियों में रखी पुस्तकें। पेड़ के आसपास चारों तरफ रखी कुर्सी-मेज और उस पर बैठे बच्चे जो मनपसंद पुस्तकों को पढ़ रहे हों, यह देखकर पहले तो आप चौंक जाएंगे, क्योंकि एेसी ओपन लाइब्रेरी पूरे एमपी में भी नहीं देखी होगी।

आप जब इसे देखेंगे तो आपको बेहद सुखद अनुभव होगा और विंध्य में एक नया इनोवेशन भी देखने को मिलेगा। एक छोटा सा गांव जहां पर एक बड़ी ओपन लाइब्रेरी होगी। सब कुछ गुरुकुल जैसा होगा।

Panna Janvar Village Open Library

बच्चे लाइब्रेरी में स्टडी करते नजर आएंगे

न ही किताबों को कमरों और अलमारियों के अंदर छिपाया जाएगा न ही कोई निगरानी करने वाला। बच्चे खुले आसमान के नीचे बैठकर इस लाइब्रेरी में स्टडी करते नजर आएंगे। सबसे बड़ी बात इसका कोई चार्ज भी नहीं होगा। जी हां कुछ माह बाद पन्ना स्थित जनवार गांव में जर्मनी की विदेशी महिला रैनहार्ड इस गांव में एक ओपन लाइब्रेरी बनाने जा रही हैं।

पुष्कर्णी पार्क में शुक्रवार को मीटिंग

जिनकी मदद के लिए सतना के मुक्ति क्लब के सदस्य 50 हजार रुपए का अनुदान देकर करेंगे। पुष्कर्णी पार्क में शुक्रवार को मीटिंग का आयोजन हुआ। जिसमें सर्व सम्मति से यह निर्णय लिया गया। जिसे दो माह के अंदर तैयार किया जाएगा। बुलेट लेडी, उलरिके रैनहार्ड पांच साल पहले जर्मनी से भारत घूमने आईं और तब से यहीं बस गई हैं।

जानते हैं रैनहार्ड लेडी के बारे में

पन्ना जिले के जनवार गांव में इन्होंने बच्चों के लिए स्केट्स पार्क बनाया है। जो गांव के लोग जातिवादी, ऊंच-नीच के झगड़ों में उलझे रहते थे, आज वही अपने बच्चों का भविष्य इस स्केट के खेल में देख रहे हैं। धीरे-धीरे यह गांव अब स्केटिंग हब बनता जा रहा है। सबसे अच्छी बात 2020 में होने वाले ओलम्पिक में स्केट को भी स्थान दिया गया है और इस गांव के बच्चे भी ओलम्पिक में भाग लेने की तैयारी कर रहे हैं। इससे गांव के साथ बच्चों और यहां के जन जीवन में भी काफी सुधार आ रहा है। अब इसी गांव में मैडम रैनहार्ड बच्चों के लिए एक ओपन पुस्तकालय बनवा रही हैं।

मुक्तिक्लब का सराहनीय कदम

जनवार गांव पन्ना में लाइब्रेरी बनवाने के लिए मुक्ति क्लब ट्रस्ट के सदस्य लक्षमण भाई, महेश आयलानी, सन्तोष नोतवानी, रॉकी बांगा, आनन्द बांगा, दयाल कापड़ी, चन्द कापड़ी, सागर कापड़ी, भरत कामदार, जयकुमार होत चंदानी, करन खिलवानी, विवेक आसरानीए, शंकर मोरवानी, प्रेम प्रकाश वाधवानी, महेश नागवानी, दिलीप भोजवानी, हैप्पी नागदेव, उत्तम जनवानी, दिलीप धमनानी, शंकर धनवानी और ट्रस्ट के अन्य सदस्यों का विशेष सहयोग रहा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???