Patrika Hindi News

> > > > The deal to sell the baby had been stolen from hospital

Photo Icon अस्पताल से चोरी बच्ची को बेचने का हो चुका था सौदा!

Updated: IST satna news
महिला ने अस्पताल से नवजात को बेचने के लिए चुराया था। पुलिस अब यह पता करने में जुटी हुई है कि बच्ची को किसे बेचा जाना था, कितने में सौदा तय किया गया था। आरोपी महिला के कथित पति से भी पूछताछ की जा रही है।

सतना महिला ने अस्पताल से नवजात को बेचने के लिए चुराया था। पुलिस अब यह पता करने में जुटी हुई है कि बच्ची को किसे बेचा जाना था, कितने में सौदा तय किया गया था। आरोपी महिला के कथित पति से भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने महिला के खिलाफ भादवि की धारा 363 के मामला दर्ज कर अदालत में पेश कर एक दिन की रिमांड पर लिया है।

मामले में जिला अस्पताल के नर्सिंग स्टाफ सहित अन्य कर्मचारियों की भूमिका भी सवालों के घेरे में है। उधर नवजात स्वस्थ बताई गई है और जच्चा-बच्चा दोनों जिला अस्पताल में भर्ती हैं।

पुलिस के मुताबिक, आरोपी महिला पूछताछ में लगातार अपने बयान बदल रही है। पहले दिन किसी व्यक्ति के दो लाख रुपए देने के प्रलोभन पर बच्ची को चुराना बता रही थी। दूसरे दिन बयान बदल कर बोला कि वह बच्ची को पालना चाहती थी। जबकि आरोपी महिला की एक बेटी और एक बेटा है। जो कि उसके साथ नई बस्ती में रहते हैं।

प्रबंधन नहीं कर रहा सहयोग

पुलिस की मानें तो अस्पताल प्रबंधन मामले की जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। दो दिन बाद भी महिला की केसशीट उपलब्ध नहीं कराई गई है। वार्ड का स्टाफ महिला पर केसशीट लेकर भागने का आरोप लगा रहा, जबकि हकीकत यह थी कि पलंग पर गद्दे के नीचे से केस शीट बरामद की गई। लेकिन जांच, चिकित्सक के ओपीनियन सहित अन्य दस्तावेज गायब थे।

केस शीट गायब

महिला को कौन चिकित्सक, किस बीामारी की वजह से मेटरनिटी वार्ड में भर्ती करता है यह साफ नहीं हो पाया है। वार्ड में कोई रिकार्ड नहीं, जबकि खाने की सूची में नाम है। राउंड करने वाले चिकित्सक सहित वार्ड इंचार्ज को यह पता नहीं कि बिना बीमारी महिला किस वजह से भर्ती है। जैसे ही बच्चा चोरी का मामला सामने आया,आरोपी महिला को डिस्चार्ज किए बिना ही दूसरे मरीज को पलंग आवंटित कर दिया गया।

क्या है मामला

प्रसव पीड़ा होने पर यात्रा रोककर बिहार के भगुआ जिला निवासी गर्भवती प्रियंका पति धर्मेन्द्र भारती को जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया था। महिला ने सामान्य प्रसव के बाद बच्ची को जन्म दिया। प्रसव के बाद महिला मेटरनिटी वार्ड के पलंग क्रमांक 29 और 30 के बीच में शिफ्ट कर दिया गया। 28 नवंबर की सुबह वार्ड में दाखिल एक अन्य महिला बच्ची को सिकाई करवाने के बहाने चुरा ले गई। जिसे पुलिस ने भल्ला फार्म के पास बरामद किया था।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???