Patrika Hindi News

बड़े बेटे ने पिता को सुलाया मौत की नींद, छोटे ने किया अंतिम संस्कार

Updated: IST sehore
आठ साल के मासूम ने पिता का अंतिम संस्कार किया तो लोगों की आंखों में छलक उठे आंसू

सीहोर. भंवरीकलां गांव में अधेड़ की हत्या के बाद सनसनी फैल गई। पुलिस के पहुंचने से पहले ही मृतक के घर ग्रामीणों की भीड़ लग गई। पुलिस ने सबसे पहले मौके पर पहुंचकर उस जगह का जायजा लिया, जिस जगह अधेड़ सो रहा था। पुलिस ने अधेड़ की हत्या के बारे में बच्चों से पूछताछ की तो कुछ ही देर में हकीकत सामने आ गई।

अधेड़ की हत्या करने वाला मृतक का ही बड़ा नाबालिग बेटा था। जिसने पिता के रोज-रोज की मारपीट करने से तंग आकर अपने पिता की तलवार से गर्दन काटकर सदा के लिए मौत की नींद सुला दिया। मृतक का अंतिम संस्कार उसके आठ वर्षीय छोटे बेटे ने किया तो लोगों की आंखों में आंसू छलक उठे। पुलिस ने बताया कि भंवरीकलां निवासी ज्ञानसिंह (45) पिता उमराव बरगुंडा शराब पीने का आदी था। वह अक्सर अपने तीन बच्चों 17 वर्षीय और 8 वर्षीय बेटों के अलावा 10 वर्षीय बेटी के साथ भी मारपीट करता था।मृतक की पत्नी देव बाई अपने पति की शराब पीने की आदत से तंग आकर पिछले पांच महीने से अपने मायके में रह रही है।

बताया जाता है कि बुधवार रात को ज्ञानसिंह शराब पीकर घर पहुंंचा और घर के कामकाज की बात को लेकर रोज की तरह बच्चों के साथ मारपीट करने लगा। इस बात को लेकर बड़ा बेटा काफी क्रोधित और दुखी हुआ था, लेकिन तब अपने गुस्से को पी गया।बाद में रात के समय जब ज्ञानसिंह अपने कमरे में सो गया तो सबसे बड़े 17 वर्षीय नाबालिग बेटे ने तलवार से पिता की गर्दन काटकर मौत की नींद सुला दिया।अधेड़ की हत्या के बाद पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए आष्टा सिविल अस्पताल भेजा तलवार जब्त कर नाबालिग बेटे को हिरासत में ले लिया है। बड़े बेटे को अपने पिता की गर्दन काटकर हत्या करने का जरा सा भी अफसोस नहीं है। उसका कहना था कि रोज-रोज की घुट-घुटकर मरने से जिदंगी खत्म हो गईथी। इसके अलावा उसका कोई चारा नहीं था।

मृतक ज्ञानसिंह की पत्नी देवबाई का अपने पति से मारपीट करने की बात को लेकर आष्टा न्यायालय में विवाद चल रहा है। न्यायालय के समक्ष भी देवबाई ने यही गुहार लगाई है कि उसका पति उसके और उसके बच्चों के साथ मारपीट करता है। शराब पीने का आदी होने के कारण हर दिन घर में झगड़ा होता है, जिससे बच्चों के लालन-पालन पर प्रभाव पड़ रहा है। वह अपने पति के साथ नहीं रहना चाहती है। बताया जा रहा है गुरुवार को इस मामले में आष्टा कोर्ट में पेशी थी। पति-पत्नी को न्यायालय में पहुंचना था, लेकिन बेटे ने पिता की हत्या कर दी, जिसकी वजह से दोनों में से एक भी कोर्ट में नहीं पहुंच सका है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???