Patrika Hindi News

तीन माह के तेंदुए की संदिग्ध मौत, शरीर पर मिले चोट के निशान  

Updated: IST Leopard death
इधर वन विभाग ने बिलकिसगंज क्षेत्र के नीबूखेड़ा और वलोंडिया के बीच विल्ला जोड़ के पास से बरामद किया तेंदुए का शव

सीहोर। जंगली जानवरों के लिए वन भी सुरक्षित नहीं बचे हैं। गुरुवार को एक तीन-चार माह का तेंदुआ के बच्चे का शव वन विभाग को संदिग्ध अवस्था में मिला है। तेंदुए के शव पर चोट के निशान पाए गए हैं। इससे तेंदुआ के शिकार का संदेह व्यक्त किया गया है। हालांकि वन विभाग इसे पहाड़ी गिरने से आई चोट के बाद मौत होना मान रहा है।

जिले के जंगलों में इस समय तेंदुए और बाद्य की दश्हत है। बुदनी, लाड़कुई, रमगढ़ा आदि के रहवासी इलाकों में जंगली जानवरों के पगमार्ग भी मिले हैं। इधर वन विभाग ने बिलकिसगंज क्षेत्र के नीबूखेड़ा और वलोंडिया के बीच विल्ला जोड़ के पास एक तीन-चार माह के तेंदुए का शव बरामद किया है। वन विभाग को तेंदुए के शव पर चोट के निशान भी मिले हैं। इससे उसकी मौत संदिग्ध लग रही है। सूत्रों की माने तो शिकारी तेंदुआ के शिकार करना चाहते थे। शिकारियों ने उसका पीछा भी किया था। इससे भागते समय तेंदुआ पहाड़ी से नीचे जा गिरकर औझल हो गया। वहीं वन विभाग तेंदुआ के नीबूखेड़ा और वलोंडिया के बीच पहाड़ी से गिरने के बाद आईचोंट के बाद शावक के मौत होने की बात कह रहा है। वन विभाग के हरीश आर्य ने कहा कि बिलकिसगंज के जंगल से तेंदुए के शावक का शव मिला था। पीएम कराने के बाद उसका अंतिम संस्कार करा दिया गया। उन्होंने तेंदुआ की मौत का कारण हादसे को बताया। वन विभाग का कहना है पीएम रिपोर्टआने के बाद स्थिति का पूरी तरह से खुलासा हो जाएगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???