Patrika Hindi News

जिले से बाहर के ट्रैक्टर-ट्राली को दिखाया बाहर की रास्ता

Updated: IST Sehore
शुजालपुर, अकोदिया, नरसिंहगढ़ सहित अन्य जिले के किसान बंपर आवक होने के बाद भी बेचने लाए थे प्याज भीड़ कम करने के उद्देश्य से प्रशासन ने उठाया कदम, जिले के किसानों से ही खरीदी जाएगी प्याज

सीहोर. ट्रैक्टर-ट्राली में दूसरे जिले से प्याज की उपज भरकर बेचने लाए किसानों को प्रशासन ने बाहर का रास्ता नपवा दिया। यह अन्य किसानों के साथ प्याज को खपाने में लगे थे। इसके कारण जिला मुख्यालय के आसपास क्षेत्रों के किसानों के सामने परेशानी खड़ी हो गई थी। सोमवार को मंडी केंद्र पर करीब पांच सौ से अधिक ट्रैक्टर-ट्राली खड़ी थी। इस कारण किसानों को उपज बेचने तीन से चार दिन का समय लग रहा है। दूसरी तरह जिले के बाहर से प्याज बेचने आए करीब सौ किसानों की ट्रैक्टर-टालियों को कतार से बाहर कर दिया।

इस बार किसानों को प्याज की बंपर पैदावार हुई और इसे बेचने में उनको पसीना आ रहा है। किसानों को राहत देने के उद्देश्य से शासन समर्थन केंद्र खोलकर प्याज खरीद रही है। इसकी व्यवस्था सभी जिलों में की गई है। क्षेत्र के किसानों से सीहोर कृषि उपज मंडी में बने केंद्र पर प्याज खरीदी की जा रही है। यहां उपज बेचने के लिए ट्रैक्टर-ट्रालियों की कतार लग गई है। इसमें अन्य जिलों से भी किसानों के प्याज लाने के कारण आवक में तेजी से इजाफा हुआ है। हालात यह बन गए कि तीन से चार किमी तक ट्रैक्टर-ट्राली ही नजर आ रहे हैं। इससे आसपास गांव के किसानों के सामने दिक्कत पैदा हो गई है। इसे देखते हुए प्रशासन हरकत में आया और बड़ा कदम उठाया।

सोमवार को एसडीएम राजकुमार खत्री और तहसीलदार संतोष मुदगल मंडी पहुंचे। जानकारी ली तो पता चला कि कई ट्रैक्टर-ट्राली दूसरे जिले के भी लाइन में लगे हैं। इससे किसानों को अपनी उपज बेचने में परेशानी हो रही है। करीब सौ ट्रैक्टर-ट्रालियों को अधिकारियों ने अलग कर दिया। साथ ही कहा कि उपज बेचने में पहले प्राथमिकता जिले के किसानों के किसानों को ही दी जाएगी।

12 जून से प्याज खरीदी का काम चल रहा है और अब तक तीन लाख क्विंटल की खरीदी हो चुकी है। एक सप्ताह निकलने के बाद भी समर्थन केंद्रों पर भीड़ कम होने का नाम नहीं ले रही है। इसी प्रकार आष्टा में भी केंद्रों पर प्याज बेचने किसानों की भीड़ टूट पड़ी है। शुरुआत में यहां एक केंद्र मंडी में बनाया था। बंपर आवक को देखते हुए केंद्र की संख्या बाद में बढ़ा दी थी, लेकिन वहीं स्थिति बनी हुई है।

जिला मुख्यालय पर प्याज खरीदी के लिए क्षेत्र के किसानों को प्राथमिकता दी जा रही है। जिला मुख्यालय से बाहर से आने वाले किसानों की ट्रैक्टर-ट्राली को कतार से बाहर कराया गया है। -राजकुमार खत्री, एसडीएम सीहोर

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???