Patrika Hindi News

बरघाट हत्याकाण्ड का आरोपी शिक्षक, सस्पेंड

Updated: IST Hemp distributor three-year imprisonment
48 घंटे जेल में बिताने पर हुई कार्रवाई, शिक्षक पर लगा है हत्या, आम्र्स एक्ट का आरोप

सिवनी. गंभीर अपराध में लिप्त रहने के आरोप से घिरे शिक्षक को 48 घंटे से अधिक समय तक जेल में बिताने पर सिविल सेवा नियम के तहत निलंबित कर दिया गया है। इस सम्बंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत सिवनी द्वारा हस्ताक्षरित आदेश पत्र भी जारी कर दिया गया है।

जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से प्राप्त आदेश पत्र के अनुसार मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत सिवनी द्वारा कहा गया है कि सर्किल जेल सिवनी के अधीक्षक ने पत्र क्रमांक 4481/ वारंट /16 सिवनी दिनांक 18 नवम्बर 2016 के द्वारा इस कार्यालय को पत्र प्रेषित कर लिखा गया है कि अतीकुर्रहमान सहायक अध्यापक शासकीय माध्यमिक शाला करकोटी को थाना बरघाट के अपराध क्रमांक 22/16 धारा 147, 148, 149, 307, 302, 427, 34, 120बी ताहि 25, 27 आम्र्स एक्ट के तहत दिनांक 9 नवम्बर 2016 को गिरफ्तार किया जाकर इसी दिन शाम 5:40 बजे जेल में दाखिल किया गया था।

आदेश पत्र में मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने कहा है कि न्यायालय श्री आशीष कुमार श्रीवास्तव अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सिवनी द्वारा दिए गए रिहाई आदेश के पालन में जमानत पर 11 नवम्बर को रात्रि 7:30 बजे जेल से रिहा किया गया।

इसलिए मप्र सिविल सेवा (वर्गीकरण नियंत्रण तथा अपील) 1966 के नियम 9 (2) के प्रावधान अनुसार 48 घंटे से अधिक की कालावधि के अभिरक्षा में निरुद्ध किए जाने के कारण अतीर्रहमान सहायक अध्यापक शासकीय माध्यमिक शाला करकोटी संकुल केन्द्र शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बालक भोमा को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है। निलंबन अवधि में इन्हें नियम अनुसार जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी, निलंबन अवधि में इनका मुख्यालय कार्यालय विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी सिवनी नियत किया गया है। आदेश तत्काल प्रभाव से लागू किया गया है।

शिक्षक ने कर लिया था ज्वाइन -

जिला शिक्षा अधिकारी एन पटले ने बताया कि बरघाट में हुए हत्याकाण्ड के मामले में सहायक अध्यापक पर शामिल होने के आरोप लगे थे। जिस पर शिक्षक से प्रधानपाठक द्वारा स्पष्टीकरण मांगा गया था। स्पष्टीकरण में उन्होंने पुलिस द्वारा थाना में बिठाने, जेल भेज दिए जाने के मामले की पूर्ण जानकारी नहीं दी थी। इस तरह उन्होंने विद्यालय में शिक्षण कार्य जारी रखा हुआ था। इस प्रकरण में जब जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से शिक्षक से जवाब-तलब किया गया था, तब भी उसने अपूर्ण जानकारी देकर चला गया था। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि जब उन्हें यह जानकारी लगी कि सहायक अध्यापक 48 घंटे से ज्यादा जेल में निरुद्ध रहे हैं, तो उन्होंने जनपद पंचायत सीईओ को पत्र लिखकर सहायक शिक्षक को निलंबित किए जाने को कहा था।

इनका कहना है-

करकोटी में पदस्थ सहायक अध्यापक बरघाट में हुई हत्या के प्रकरण में आरोपी हैं, 48 घंटे से ज्यादा जेल में रहे हैं, इसलिए नियम अनुसार उन्हें निलंबित किया गया है।

एन पटले, जिला शिक्षा अधिकारी सिवनी

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
More From Seoni
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???