Patrika Hindi News

गांव में आया बाघ

Updated: IST tiger
बाघ पेंच या कान्हा नेशनल पार्क का हो सकता है।

सिवनी. पलारी क्षेत्र में एक बाघ की दस्तक ने लोगों की नींद उड़ा दी है। बुधवार दोपहर और शाम के समय लोगों को बाघ नजर आया है। जिसके बाद स्थानीय लोगों और किसानों में दहशत व्याप्त है। अधिकारियों के अनुसार कॉरीडोर के इस इलाके में बाघ का आना-जाना सामान्य बात है।

पलारी क्षेत्र में बुधवार की शाम खेत में काम कर रहे पिल्लू ठाकुर, विश्राम सिंह मर्सकोले और भूरा यादव को बाघ जैसा एक वन्य प्राणी नजर आया। यह बाघ बगलई हार में रमाकांत राय के नब्बे एकड़ क्षेत्र में लगे नीलगिरी के पेड़ों के बीच घूम रहा था। जिसके बाद घबराए दोनों ग्रामीण घर वापस आ गए। चूंकि नब्बे एकड़ के क्षेत्र में नीलगिरी के पौधे लगे हुए हैं इसलिए बाघ को खोज पाना या यह तय कर पाना मुश्किल था कि वह किधर है।

ग्रामीणों ने इस बात की जानकारी वन विभाग के अधिकारियों को दी। जिसके बाद गुरुवार की दोपहर वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचा। पद चिन्हों के आधार पर अधिकारियों का कहना है कि ये चिन्ह बाघ के ही हैं।

वहीं इस मामले में पेंच नेशनल पार्क के डिप्टी डायरेक्टर केके गुरुबानी का कहना है कि बाघों का घूमना एक सामान्य प्रक्रिया है। बाघ पेंच या कान्हा नेशनल पार्क का हो सकता है। यदि बाघ की तस्वीर मिल सके तभी यह पहचान हो पाएगी कि बाघ कौन सा है और कहां से आया है। फिलहाल वन अधिकारी ग्रामीणों से सावधानी बरतने की बात कह रहे हैं। फिलहाल इस बाघ ने किसी मवेशी को अपना शिकार नहीं बनाया है लेकिन गांव के पास घूम रहे बाघ के कारण ग्रामीण घबराए हुए हैं।

ग्रामीण रामेश्वर ठाकुर, शुकला ठाकुर, जागेश्वर ठाकुर, श्याम ठाकुर, जगदीश ठाकुर, दिलीप ठाकुर द्वारका ठाकुर आदि का कहना है कि बाघ के गांव के पास घूमने के कारण वे घबराए हुए हैं। लोगों ने रात में निकलना बंद कर दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि बाघ को शीघ्र ही यहां से दूर भेजा जाए।

हां यह बाघ है...

जल के पास मिले पद चिन्हों से बाघ की पहचान हुई है। ग्रामीणों को सावधानी बरतने की हिदायत दी गई है। हम नजर बनाए हुए हैं।

बीपी शरणागत, वन परिक्षेत्र अधिकारी

सामान्य बात है...

बाघों का विचरण सामान्य बात है। कॉरीडोर क्षेत्र में बाघ घूम सकता है। हां ग्रामीणों या बिजली के खुले तारों और कुएं आदि के कारण बाघ को खतरा हो सकता है। ग्रामीण घबराएं नहीं। बाघ अकारण हमला नहीं करता।

केके गुरबानी, डिप्टी डायरेक्टर, पेंच पार्क

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???