Patrika Hindi News

भरी गर्मी और बरसात में कहां जाएं हम

Updated: IST seoni
तहसीलदार ने दिया घर तोडऩे का अल्टीमेटम

सिवनी. छपारा में रिछले 15 वर्षों से रह रहे निर्धनों के मकान तुड़वाए जाने के तहसीलदार के नोटिस को लेकर मंगलवार को पीडि़तों ने कलेक्टर को लिखित शिकायत की। आवेदकों का कहना है कि सभी प्रार्थी छपारा के वार्ड क्रमांक एक लालमाटी क्षेत्र में निवास करते है। सभी 15 वर्षो से भी अधिक समय से झोपड़ी, टपरे व मकान बना कर निवास कर रहे हैं। सभी लोग मजदूरी कर अपना पेट पालते है।

जिन मकानों में वे निवासरत है वह भूमि आबादी मद की है। उस भूमि पर 30 परिवार निवास करते हैं किन्तु भूमि के पीछे पश्चिम दिशा में रहने वाले एक शख्स की निजी भूमि लगी हुई है इस कारण वह शख्स तहसील कार्यालय छपारा से सांठगांठ कर मकान तुड़वाना चाह रहे है। शिकायतकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि वह शख्स राजनैतिक, आर्थिक रूप से दंबग व्यक्ति है जो अपने पैसों की दम मकान तुड़वाने की बात करता है।

बीते दिवस तहसील कार्यालय छपारा से सभी को नोटिस प्राप्त हुए हैं कि 21 जून तक मकान खाली कर दें नहीं तो मकान तोड़ दिए जाएंगे। निर्धन परिवार के गुड्डी राजकुमारी, भूरा, राधेश्याम, बीना बाई, सीला, गोमती, आमाती, परबीन, निरंजन, जानकी, सजय, बसंत, जमीला सहित अन्य परिवार के लोगों ने कलेक्टर से मांग की है कि बारिश को देखते हुए हमें बेघर होने से निजात दिला दें।

लोगों का कहना है कि वे पिछले दो दशकों से इस जगह पर काबिज हैं। ऐसे में बारिश के पहले उन्हे हटाए जाने से सिर छिपाने की समस्या खड़ी हो जाएगी। लोगों का कहना है कि यदि प्रशासन वैकल्पिक इंतजाम भी करे तो बारिश के चार माह तक तो नए घर बना पाना संभव नहीं है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???