Patrika Hindi News

मंडी में किसानों की मेहनत पर अव्यवस्था का ग्रहण

Updated: IST Eclipse of disorder on farmers
समर्थन मूल्य पर प्याज खरीदी को लेकर जो पंजीयन व्यवस्था की गई है उसके बाद से व्यवस्था पटरी पर लौट रही है। दो दिनों से खरीदी व तौल कार्य र्निविवाद चल रहा है। हालंाकि तौल के बाद प्याज के भंडारण को लेकर परेशानी आ रही है। बड़ी मात्रा में प्याज खुले में रखा गया है।

शुजालपुर. समर्थन मूल्य पर प्याज खरीदी को लेकर जो पंजीयन व्यवस्था की गई है उसके बाद से व्यवस्था पटरी पर लौट रही है। दो दिनों से खरीदी व तौल कार्य र्निविवाद चल रहा है। हालंाकि तौल के बाद प्याज के भंडारण को लेकर परेशानी आ रही है। बड़ी मात्रा में प्याज खुले में रखा गया है। यदि बारिश होती है तो प्याज खराब होने की आशंका है। रविवार को जो रैक लगा था वह नगर से सतना के लिए भेजा गया। इसके बाद से कोई रैक नहीं लगा। मंगलवार को रैक आएगा।

सोमवार को दिनभर तौल हुआ। प्याज को सिटी स्थित सब्जी मंडी के शेड में रखा जा रहा है। इसी प्रकार मंडी स्थित अनाज मंडी के शेड भी भर चुके हैं। भले ही प्याज शेड के नीचे रखा हो, लेकिन तेज बारिश में इसे भीगने से बचाया नहीं जा सकता है। मार्केटिंग सोसायटी प्रबंधक विष्णुप्रसाद पाटीदार ने बताया शुजालपुर केंद्र पर अब तक एक लाख 25 हजार क्विंटल प्याज की खरीदी हो चुकी है। 20 जून के लिए जिनका पंजीयन हुआ वे ट्रैक्टर-ट्रॉली भी मंडी में पहुंचना शुरू हो गई।

एक दिन में लगभग 150 का तौल संभव हो रहा है। जिन्होंने उपज बेच दी है उनको देने के लिए 1.29 करोड़ रुपए की राशि शासन ने एजेंसी के खाते में भेज दी है। हालांकि खरीदी का दबाव अभी होने के कारण यह राशि किसानों के खातों में नहीं पहुंचाई जा सकी है।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???