Patrika Hindi News

> > > > Two dacoits arrested

पुलिस ने दबोचे दो इनामी डकैत

Updated: IST shivpuri
दो देशी कट्टे सहित अन्य सामान बरामद, एक साल पूर्व एनकांउटर के दौरान फरार हो गए थे दोनों

शिवपुरी. सिरसौद थाना पुलिस और एडी टीम ने बीती रात जंगल में छिपे रामविलास गुर्जर गैंग के दो सक्रिय सदस्यों को दबोचने की कार्रवाई की है। पुलिस ने इनके कब्जे से दो देशी कट्टे व अन्य सामान बरामद किया है। दोनों डकैत वर्ष 2014 से मड़ीखेड़ा के जंगल में हुई मठभेड़ के बाद से फरार थे। इसके बाद से पुलिस ने दोनों पर ३-३ हजार का इनाम घोषित किया था।

एएसपी कमल मौर्य ने बताया कि पुलिस अधीक्षक मो. यूसुफ कुर्रेशी को बीती रात सूचना मिली कि राजस्थान के इनामी डकैत रामविलास गुर्जर गैंग में सक्रिय रहने वाले डकैत मंगल सिंह और पदम सिंह गुर्जर सतनवाड़ा के जंगलों से होते हुए अमरखोआ झिरिया मंदिर के पास किसी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं। इस सूचना पर एसपी ने एएसपी कमल मौर्य और एसडीओपी पोहरी अशोक घनघोरिया को कार्रवाई के लिए आदेशित किया। इस पर सिरसौद थाना प्रभारी सुरेश शर्मा और एडी प्रभारी बृजमोहन रावत के नेतृत्व में दो पार्टियां गठित की गईं और मुखबिर द्वारा बताए गए स्थान पर योजनाबद्ध तरीके से दबिश दी। इस बीच पुलिस पार्टियों को रात्रि करीब 9 बजे जंगल की ओर से आते हुए दो व्यक्ति नजर आए। टीम प्रभारी सुरेश शर्मा, बृजमोहन रावत ने डकैैतों को ललकारा तो वह वहां से भागने लगे। जिन्हें पुलिस टीम ने पीछा कर घेर लिया और उन्हें पकडऩे में सफलता हासिल की। पकड़े गए डकैतों के पास से दो 315 बोर के कट्टे पांच जिंदा राउण्ड मिले। पूछताछ में बदमाशों ने अपना नाम मंगल पुत्र बद्री गुर्जर निवासी उमरबाया थाना जौरा व पदम पुत्र लाखन गुर्जर निवासी उमरबाया थाना जौर बताया। दोनों राजस्थान के इनामी डकैत औतार गुर्जर और रामविलास गुर्जर गैंग के सदस्य हैं। इन डकैतों को पकडऩे में सिरसौद थाना प्रभारी सुरेश शर्मा, एडी प्रभारी बृजमोहन रावत, सहायक उप निरीक्षक वासुदेव रावत, एएसआई प्रवीण त्रिवेदी, प्रधान आरक्षक देवेन्द्र सिंह, आरक्षक उदल गुर्जर, चन्द्रभान, प्रवीण सेंथिया के अलावा सिरसौद थाने के सहायक उप निरीक्षक शिवचरण, रामलाल, सुनील आदि ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे