Breaking News
कानपुर में नरेन्द्र मोदी की रैली के लिए लगाया गया मंच तेज बारिश और तूफान के कारण ढहा दक्षिणी सूडान में बंदूकधारी ने 20 लोगों की गोली मार कर हत्या की, 70 घायल, घायलों में 2 भारतीय शांति सैनिक भी शामिल चुनाव आयोग ने भाजपा नेता अमित शाह पर से प्रतिबंध हटाया, कर सकेंगे चुनाव प्रचार जम्मू-कश्मीर में पीडीपी समर्थक सरपंच की गोली मारकर हत्या जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में स्टंट करने के दौरान तीन छात्रों की मौत, मोटरसाइकिल पर कर रहे थे स्टंट

बहुमत मिला तो मोदी,गठबंधन तो शिवराज पीएम!

Shivraj cuts the way of Modi towards PM candidature

print 
Shivraj cuts the way of Modi towards PM candidature
9/7/2013 1:24:00 PM
Shivraj cuts the way of Modi towards PM candidature
Shivraj cuts the way of Modi towards PM candidature

नागपुर। आडवाणी बनाम मोदी खेमे में प्रधानमंत्री पद को लेकर जारी खींचतान से निपटने का संघ ने नया फॉर्मूला पेश किया है।


संघ सूत्रों के अनुसार यदि नरेंद्र मोदी भाजपा को लोकसभा चुनाव में 272 सीटें दिलवाने में सफल रहते हैं तो वे प्रधानमंत्री होंगे और यदि पार्टी 200 सीटों के आगे नहीं बढ़ती तो ऎसे में मोदी की स्वीकार्यता न होने की दशा में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आगे कर एनडीए की तरफ से प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी सौंपी जाएगी। सूत्र बताते हैं कि मोदी ने गठबंधन की स्थिति में राजनाथ सिंह के नाम को अपना समर्थन दिया है, वहीं आडवाणी ने शिवराज के नाम को अपनी तरफ से आगे बढ़ाया है।

मोदी की साफ-साफ


सूत्रों के अनुसार मोदी ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ-साथ भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह को यह साफ कर दिया है कि वे उसी स्थिति में प्रधानमंत्री बनना पसंद करेंगे, जब भाजपा को पूर्ण बहुमत या बहुत कम समर्थन की जरूरत होगी। वे गठबंधन की भारी भरकम गठरी को लादकर प्रधानमंत्री बनने के इच्छुक नहीं हैं।

अब नहीं उत्साह


सूत्रों के अनुसार पार्टी के अंदर लगातार हो रहे विरोध, पार्टी के नेताओं के बयानों, गठबंधन की राजनीति में खुद की अस्वीकार्यता और 272 के आकडे पर पहुंचने की असंभव संभावना के चलते मोदी को अब प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने को लेकर कोई विशेष उत्साह नहीं बचा है।

इसलिए कवायद

मोदी को चुनाव प्रचार समिति का प्रमुख बनाने के बाद आडवाणी के इस्तीफ से उत्पन्न बवंडर से परेशान हुआ संघ नहीं चाहता कि भविष्य में किसी भी तरह के मतभेद सार्वजनिक हों। संघ यह सुनिश्चित करना चाहता है कि वरिष्ठ नेताओं की मांगों, मुद्दों और मंशाओं का निराकरण पहले ही कर दिया जाए, जिससे सभी नेता एक साथ और एक सुर में प्रचार में जुट सकें। चुनाव के बाद किसी तरह की गफलत न हो।

8-9 को होगा मंथन

संघ, भाजपा और विहिप के 8-9 सितंबर को समन्वय समिति की बैठक में फार्मूले पर मुहर लगेगी। बैठक में 84 कोसी परिक्रमा की असफलता पर भी चर्चा होगी और मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने और न करने को लेकर भी अंतिम निर्णय लिया जाएगा। इस बैठक का भाजपा और उसके संघटकों को इंतजार है।

नमो गुट से राजनाथ भी

फॉर्मूला 1 : 272 सीटें आईं तो नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री
फॉर्मूला 2 : 200 सीटें आईं तो आडवाणी खेमे से शिवराज, मोदी खेमे से राजनाथ का नाम


सुषमा नहीं चाहती मोदी बने पीएम उम्मीदवार


संघ प्रमुख मोहन भागवत ने बुधवार को रात्रि भोज के बहाने भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के निवास पहुंचकर उनसे और सुषमा स्वराज से पीएम उम्मीदवार के मामले पर चर्चा की। बताया जाता है कि स्वराज ने मोदी को पीएम उम्मीदवार करने का विरोध किया। उनका तर्क था कि मोदी को अभी उम्मीदवार बनाने से विधानसभा चुनावों में मुद्दा बदल जाएगा। कांग्रेस के खिलाफ भ्रष्टाचार,आर्थिक विफलता और कुशासन के बजाय चुनाव व्यक्ति केंद्रित हो जाएगा। अल्पसंख्यक मतों के ध्रुवीकरण की संभावना।


समीर चौगांवकर


    Comments
    Rajkumar Raghav says:
    07 Sep 13 at 11:06 AM
    वे वांट ओनली एंड ओनली मोदी अस अ फ्यूचर पम.
    Write to the Editor
    Type in Hindi (Press Ctrl+g to toggle between English and Hindi)
    Terms & Conditions
    Comments are moderated. Comments that include profanity or personal attacks or other inappropriate comments or material will be removed from the site. Additionally, entries that are unsigned or contain "signatures" by someone other than the actual author will be removed. Finally, we will take steps to block users who violate any of our posting standards, terms of use or privacy policies or any other policies governing this site.
    Name:      
    Location:    
    E-mail:      
       
           
        
     
     
    Top