Patrika Hindi News

चुनाव प्रचार में कानफाड़ू आवाज पर होगी कार्रवाई  

Updated: IST up election
80 डेसिबल से ज्यादा तेज नहीं कर सकेंगे आवाज, तेज आवाज से दिल के मरीजों-गर्भवती महिलाओं को हो सकती है दिक्कत

सिद्धार्थनगर. कानफाडू आवाज में चुनाव प्रचार करना उम्मीदवारों को महंगा पड़ सकता है। निर्धारित सीमा से तेज आवाज में हार्न बजाने पर ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

27 फरवरी को जिले की पांच विधानसभा सीटों पर मतदान होना है। चुनाव निशान मिलने के बाद प्रचार-प्रसार ने जोर पकड़ लिया है। विभिन्न दलों के उम्मीदवारों के साथ निर्दलीय भी वाहनों पर हार्न बांध कर शहर की सड़कों से लेकर गांव की गलियों तक में प्रचार कर रहे हैं। प्रचार के दौरान हार्न के आवाज की सीमा भी तय की गई है।

प्रचार वाहन से 80 डेसिबल से ज्यादा तेज आवाज में प्रचार नहीं किया जा सकता है। इससे अधिक आवाज होने पर कार्रवाई हो सकता है। इतना ही नहीं प्रचार वाहनों को इस बात की भी हिदायत दी गई है कि वह अस्पताल, किसी धार्मिक स्थल या कहीं पर कोई दुखद घटना घटी हो तो यथासम्भव उसके आसपास धीमी आवाज में प्रचार करें।

अस्पतालों के निकट तो खास कर ऐसा करने की सलाह दी गई है। अस्पताल के पास तेज आवाज में हार्न बजाने से दिल के मरीजों व गर्भवती महिलाओं में दिक्कत पैदा हो सकता है। ऐसे मरीजों का ख्याल कर इससे बचने की सलाह दी गई है। प्रशासन की इस हिदायत के बाद वाहनों से हार्न लगा कर प्रचार करने वाले कितना अमल करते हैं यह तो उनपर निर्भर करता है, लेकिन प्रशासन ने तो इतना साफ ही कर दिया है कि निर्धारित सीमा से तेज आवाज हुई तो कार्रवाई तय है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???