Patrika Hindi News

> > > > Family Planning Scheme mobile application launch

अब मोबाइल एप के जरिये  मिलेगी परिवार नियोजन की जानकारी

Updated: IST mobile app
मोबाइल एप के जरिये मिलेंगी अपडेट जानकीरियां

सिद्धार्थनगर. देश की बढ़ती जनसंख्या को स्थिर करने के लिए परिवार नियोजन की तमाम योजनाओं को मोबाइल सेवा से जोड़ दिया जाएगा। इसके लिए सरकार द्वारा मोबाइल एप भी लांच किया गया है। जिसके माध्यम से योजना का प्रचार प्रसार करने के साथ ही प्रत्येक दिन दी जाने वाली सेवाओं को भी अपडेट करना होगा। सेवाओं को अपडेट नहीं करने वाले अफसरों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। इसके लिए ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। जिम्मेदारी निभाओं प्लान बनाओं के नारे के साथ चलाई जा रही परिवार नियोजन की योजनाओं को जन जन तक पहुंचाने के लिए ब्लॉक व ग्राम पंचायत स्तर पर कई प्रकार की गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। जिसके माध्यम से लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है। ब्लॉक स्तर पर नियमित रूप से नसबन्दी शिविरों के आयोजन के साथ ही कॉपर टी लगाने के लिए भी शिविर का आयेाजन किया जा रहा है। मोबाइल एप के माध्यम से लोगों लोगों को परिवार नियोजन के योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही अन्य महत्वपूर्ण विषयों के बारे में भी बताया जाएगा।

मोबाइल एप से आसान होगी रिपोर्टिंग
परिवार नियोजन से जुडी सेवाओं को समुदाय तक और पहुँचाने में मदद मिले तथा सेवाओं का आंकलन व अनुश्रवण भी सहीं ढंग से किया जा सके इसके लिए सरकार ने जिम्मेदारी निभाओ प्लान बनाओ नाम से मोबाइल एप लांच किया है। जिससे ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की रिपोर्टिग भी काफी आसान हो जाएगी। जिसे माध्यम से परिवार नियोजन कार्यक्रमों की दैनिक प्रगति ब्लॉक, जनपद व राज्य को भेजी जा सकेंगी। मोबाइल एप के दो माड्यूल है, जिनमे से एक एन्ड्रायड एप एवं दूसरा वेब आधारित एप्लीकेशन है। परिवार नियोजन से जुड़ी कई जानकारियों से लैस इस एन्ड्रायड एप्लीकेशन मे पंजीकरण, लॉग इन , नियत सेवा दिवस, आउटरीच सेवा दिवस की योजना, अलर्ट एवं रिमाइन्डर, आंकड़ो को एकत्रित करना, आंकडो का विश्लेशण एवं पैनिक बटन जिसके माध्यम से सेवाओं से जुड़ी प्रतिक्रिया देने की सुविधा उपलब्ध है। इस माड्यूल को जनपद स्तरीय अधिकारियों द्वारा उपयोग में लाया जाएगा।

उच्चाधिकारियों के लिए है बेब अप्लीकेशन
वेब एप्लीकेशन पर आंकडो का संकलन, विश्लेषण एवं शुद्धीकरण तथा कार्य योजना के सापेक्ष उपलब्धि व फीडबैक की सुविधा रहेगी। जिसके आधार पर विभिन्न स्तरों पर योजना के कार्यों की निगरानी की जा सकेगी। इस माड्यूल का उपयोग जनपद, मण्डल व राज्य स्तरीय अधिकारियों द्वारा किया जाएगा।

मोबाइल एप से होगी यह आसानी
-प्रतिदिन कार्ययोजना के आधार पर उपलब्धि का आकलन आसानी से किया जा सकेगा निश्चित सेवा दिवस के विषय में पहले ही अधिकारियों व जिम्मेदारों को सूचना प्राप्त हो जाएगी। निश्चित सेवा दिवस पर दी जाने वाली सेवाओं की गतिविधि आदि रद्द होने की दशा में मोबाइल पर ही सभी को आसानी से जानकारी उपलब्ध हो जाएगी। मोबाइल फोन अथवा टेबलेट के माध्यम से योजना की निष्पक्ष सही ढंग से निगरानी की जा सकेगी। मोबाइल एप्लीकेशन पर निश्चित सेवा दिवस से सम्बंधित रिपोर्ट नहीं भेजने पर रिमाइडंर आएगा इसके बाद भी सूचना नहीं भेजे जाने पर इसकी सूचना सीधे वेब के माध्यम से मुख्य चिकित्साधिकारी को जाएगी। दूसरे दिन भी सेवा को अपडेट नहीं करने पर रिमाइंडर के साथ पत्र आएगा फिर भी अपडेट नहीं करने पर यह सूचना व राज्य स्तरीय नोड़ल अधिकारी को प्रेषित की जाएगी। जिसके द्वारा जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

मोबाइल एप के लिए दिया जा रहा प्रशिक्षण
मोबाइल एप के माध्यम से परिवार नियोजना की योजना के क्रियान्वन, निगरानी
व रिपोर्टिंग के लिए जनपद व ब्लॉक स्तरीय जिम्मेदारों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। एप के माध्यम से रिपोर्टिंग काफी आसान हो जाएगी। सभी अधिकारियों के एन्ड्रायड फोन में मोबाइल एप को डाउनलोड करा दिया गया है। राजेश शर्मा जिला कार्यक्रम प्रबंधक, एनएचएम, सिद्धार्थनगर

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे