Patrika Hindi News

> > > > Students do not know, came out scholarships

Photo Icon छात्र को पता नहीं, निकल गई छात्रवृत्ति

Updated: IST sidhi news
अग्रणी महाविद्यालय ने दोहरा लाभ लेने का नोटिस थमाया, जांच की मांग लेकर अफसरों के चक्कर लगा रहा पीडि़त

सीधी छात्रवृत्ति वितरण में गड़बड़ी को लेकर नित नए मामले सामने आ रहे हैं। कॉलेज संचालक छात्रों के रिकॉर्ड जमाकर छात्रवृत्ति हड़पने का मामला सुलझा भी नहीं था कि नया खुलासा हो गया।

बताया गया, गोपद बनास तहसील अंतर्गत हड़बड़ो निवासी रामलखन पिता संपति प्रजापति ने बताया कि मझौली के एक निजी कॉलेज ने वर्ष 2013-14 में उसके नाम से स्वीकृति छात्रवृत्ति (राशि 20.33 हजार रुपए) आहरित कर ली है।

जबकि वह इस संस्था को जानता भी नहीं है। इस दौरान पीडि़त संजय गांधी स्वशासी कॉलेज का निमयमित छात्र रहा, जहां से उसने छात्रवृत्ति का लाभ भी लिया था। कार्यालय प्राचार्य पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति संजय गांधी स्मृति कॉलेज द्वारा गत 3 नवंबर को रामलखन को दोहरी छात्रवृत्ति की राशि जमा करने का नोटिस भेजा गया।

छात्रवृत्ति की राशि 15 दिन में जमा कराने के निर्देश

नोटिस में उल्लेख किया है कि परीक्षणोपरांत पाया गया है कि आपने सत्र 2013-14 में संजय गांधी कॉलेज के साथ मयाशंकर पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट मझौली से 'सार्टिफिकेट इन योगा' किया है। इस दौरान वहां से भी आपको छात्रवृत्ति प्राप्त हुई है, जो नियम विरुद्ध है। उसे दोहरी छात्रवृत्ति की राशि 15 दिन में जमा कराने के निर्देश दिए गए हैं। अन्यथा थाने में एफआईआर कराई जाएगी।

शिकायत लेकर भटक रहा छात्र, सुनवाई नहीं

पीडि़त छात्र ने बताया, नोटिस मिलने के बाद से मामले की जांच कराने की मांग को लेकर अधिकारियों के यहां भटक रहा हूं। गत 15 नवंबर को जनसुनवाई में पहुंचकर कलेक्टर से गुहार लगाई थी, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई, शिकायती आवेदन के साथ बैंक स्टेटमेंट भी दिया है।

कॉलेज का नहीं है पता ठिकाना

मझौली की जिस कॉलेज से दोहरी छात्रवृत्ति का लाभ लिए जाने का छात्र पर आरोप है, वह कॉलेज मझौली मे दृश्यमान नहीं है, स्थानीय लोगों के अनुसार कॉलेज कहां संचालित थी और उसका संचालक कौन है इसकी जानकारी नहीं है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???