Patrika Hindi News

> > > > Many people has unemployed due to note ban in india

नोटबंदीः बेरोजगार हुए परदेशी, खाली हाथ लौट रहे अपने घर

Updated: IST Cantt railway station
देशभर में हुई नोटबंदी के बाद बिहार के परदेशी अब पूरी तरह से बेरोजगार होते नजर आ रहे हैं...

सिवान। देशभर में हुई नोटबंदी के बाद बिहार के परदेशी अब पूरी तरह से बेरोजगार होते नजर आ रहे हैं। अधिकाशं परदेशी अपने देश खाली हाथ लौटने को मजबूर हो रहे हैं। इनमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश से परदेशी लौट रहे हैं और सबसे ज्यादा तादात इनमें मुस्लिम समुदाय के युवकों की है।

जानकारी के अनुसार इसी क्रम में महाराष्ट्र के कपड़ा मिलों में काम कर रहे बांका जिले के करीब 20 हजार मजदूर बेरोजगार हो गए। इसमें अधिकांश मुस्लिम समुदाय के लोग शामिल हैं। नोटबंदी के बाद कपड़ा मंडियों में आई आर्थिक तंगी ने इनके रोजगार छिन लिये। इन मजदूरों को अपने देश में भी काम नहीं मिल पा रहा है। जिससे वहां से लौटे कई मजदूर व उनके परिवार भूखमरी की कगार पर पहुंच गए हैं।

मजदूरों का कहना है कि महाराष्ट्र में जहां काम करते है। वहां के बैंकों में अधिकांश मजदूरों के खाते नहीं हैं। जिससे नोटबंदी के बाद वो वहां अपने पुराने नोट जमा नहीं करवा पा रहे थे। साथ ही पुराने नोटों की बदली में भी कई उलझने आ रही थी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???