Patrika Hindi News

ओडिशा के प्रफुल्ल को गोल्डमैन पर्यावरण पुरस्कार

Updated: IST goldman environment award praful odisha
भारत के पर्यावरणविद प्रफुल्ल समंतारा को एशिया क्षेत्र के लिए गोल्डमैन पर्यावरण पुरस्कार से नवाजा जाएगा।

सैन फ्रांसिस्को:भारत के पर्यावरणविद प्रफुल्ल समंतारा को एशिया क्षेत्र के लिए गोल्डमैन पर्यावरण पुरस्कार से नवाजा जाएगा। सैन फ्रांसिस्को में सोमवार को पुरस्कार देने की घोषणा की गई। प्रफुल्ल को ओडिशा के डोंगरिया कोंध आदिवासियों के कल्याण के लिए काम करने और उनकी संस्कृति को बचाने के लिए ये पुरस्कार दिया जाएगा।

पुरस्कार जीतने वाले 6 भारतीय हैं प्रफुल्ल
प्रफुल्ल 'ग्रीन नोबेल' के नाम से लोकप्रिय इस पुरस्कार को जीतने वाले भारत के छठे व्यक्ति हैं। प्रफुल्ल ने मूलवासी डोंगरिया कोंध आदिवासियों के भूमि अधिकारों के लिए 12 साल तक कानूनी लड़ाई लड़ी और उनके पुण्य भूमि को नियामगिरी पर्वत को खनन से बचाया।गौरतलब है कि वेदांता रीसोर्सेज ने इस पहाड़ी क्षेत्र में मौजूद एल्यूमिनियम के खनन का ठेका ले रखा था। कंपनी आए दिन इलाके में खनन करती रहती थी। प्रफुल्ल से पहले मेधा पाटकर, एम. सी. मेहता, राशिदा बी और चंपा देवी शुक्ला को संयुक्त रूप से और छत्तीसगढ़ के रमेश अग्रवाल को इस पुरस्कार से नवाजा जा चुका है

प्रफुल्ल ने लड़ी कानूनी लड़ाई
प्रफुल्ल की कानूनी लड़ाई का ही नतीजा रहा कि पूरे देश में स्थानीय ग्राम परिषद स्थापित करने का अभूतपूर्व फैसला आया, जो अपने क्षेत्र में खनन गतिविधियों से संबंधित फैसले लेता है। इससे आदिवासियों को अपनी भूमि, जीवन और भविष्य के बारे में बेहतर फैसले लेने का नियंत्रण हासिल हुआ।

पर्यावरण सरंक्षण करने वालों को पुरस्कार
यह पुरस्कार दुनिया के छह मानव सभ्यता वाले इलाकों - अफ्रीका, एशिया, यूरोप, द्वीप एवं द्विपीय देश, उत्तरी अमरीका और दक्षिणी एवं मध्य अमेरिका - में जमीनी स्तर पर पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले लोगों को दिया जाता है।
पुरस्कार विजेताओं में कई नाम
इस वर्ष अन्य क्षेत्रों से इस पुरस्कार के विजेताओं में स्लोवेनिया के उरोस मासेर्ल, अमरीका के मार्क लोपेज, ग्वाटेमाला के रोड्रिगो टॉट, कांगो के रॉड्रिग मुगारुका काटेंबो और आस्ट्रेलिया के वेंडी बोमैन शामिल हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???