Patrika Hindi News

रांची टेस्ट : मार्श-हैंड्सकॉम्ब ने भारत को जीत से महरूम किया

Updated: IST Aussie Team
आस्ट्रेलिया ने मैच के आखिरी दिन सोमवार को अपनी दूसरी पारी में छह विकेट खोकर 204 रन बनाते हुए मैच ड्रॉ करा लिया

रांची। पीटर हैंड्सकॉम्ब (नाबाद 72) और शॉन मार्श (53) के बीच पांचवें विकेट के लिए हुई 124 रनों की साझेदारी ने झारखंड राज्य क्रिकेट संघ स्टेडियम में आयोजित तीसरे टेस्ट मैच में भारत को आस्टे्रलिया के खिलाफ जीत से दूर कर दिया। यह मैच बेनतीजा समाप्त हुआ। आस्ट्रेलिया ने मैच के आखिरी दिन सोमवार को अपनी दूसरी पारी में छह विकेट खोकर 204 रन बनाते हुए मैच ड्रॉ करा लिया। हैंड्सकॉम्ब के साथ मैथ्यू वेड नौ रन बनाकर नाबाद लौटे।

आस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में 451 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था। भारत ने इसका मजबूत जवाब देते हुए चेतेश्वर पुजारा (202) की मैराथन पारी और रिद्धिमान साहा (117) की जुझारू पारी के दम पर अपनी पहली पारी नौ विकेट खोकर 603 रनों पर घोषित करते हुए 152 रनों की बढ़ते ले ली थी। भारत ने मैच के चौथे दिन रविवार को अपनी पहली पारी घोषित कर दी थी और आस्ट्रेलिया के 23 रनों पर ही दो विकेट चटका कर मैच जीतने की उम्मीदों को जिंदा रखा था।

रविवार के अपने स्कोर से आगे खेलने उतरी आस्ट्रेलिया ने पांचवें दिन के पहले सत्र में मैट रेनशॉ (15) और कप्तान स्टीवन स्मिथ (21) के विकेट गंवा दिए थे। रेनशॉ को ईशांत शर्मा और स्मिथ को रवींद्र जडेजा ने आउट किया। लग रहा था कि भारत आस्ट्रेलिया को अपनी बढ़त से पहले ही समेट कर जीत हासिल कर लेगा लेकिन मार्श और हैंड्सकॉम्ब ने विकेट पर अपने पैर जमाए और बेहतरीन साझेदारी करते हुए भारत द्वारा ली गई बढ़त को पार किया और फिर भारत की जीत की उम्मीदों को खत्म करते हुए मैच ड्रॉ करा ले गए।

इस मैच से पहले 38 पारियों में आस्ट्रेलियाई टीम के बल्लेबाज पांचवें विकेट के लिए 100 रनों से ज्यादा की साझेदारी नहीं कर पाए थे लेकिन इस मैच उन्होंने दो बार यह कारनामा किया। मार्श और हैड्सकॉम्ब ने उसे 62 ओवरों में ऐसी साझेदारी निभा कर दी जिससे विश्व की नंबर एक टेस्ट टीम के श्रृंखला में बढ़त लेने के अरमानों पर पानी फिर गया। इन दोनों

बल्लेबाजों ने तकरीबन साढ़े पांच घंटे बल्लेबाजी करते हुए आस्ट्रेलिया को श्रृंखला में बराबरी पर ही रहने दिया।

हैंड्सकॉम्ब ने अपनी पारी में 200 गेंदें खेलीं और सात चौके लगाए। भारत की तरफ से जडेजा ने सर्वाधिक चार विकेट लिए। रविचंद्रन अश्विन और ईशांत को एक-एक विकेट मिला। इस चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर हैं। श्रृंखला का निर्णायक मुकाबला धर्मशाला में 25 मार्च से खेला जाएगा। आस्ट्रेलिया ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था। कप्तान स्मिथ ने पहली पारी में 178 और ग्लैन मैक्सवेल ने 104 रनों की पारी खेलते हुए टीम को विशाल स्कोर प्रदान किया था।

आस्ट्रेलिया को उम्मीद थी कि वह भारत को इस स्कोर से पहले आउट कर बढ़त लेकर उसे बैकफुट पर धकेल देगा लेकिन हुआ इससे उलट। पुजारा ने एक छोर संभालते हुए दो महत्वपूर्ण शतकीय साझेदारियां करते हुए टीम को बढ़त दिलाई।

सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (67) के आउट होने के बाद मैदान पर उतरे पुजारा ने पहले दूसरे सलामी बल्लेबाज मुरली विजय (82) के साथ दूसरे विकेट के लिए 102 रनों की साझेदारी की। विजय के जाने के बाद भारत ने विराट कोहली (6), अंजिक्य रहाणे (14), करुण नायर (23) और अश्विन (3) के विकेट जल्दी खो दिए।

लेकिन पुजारा एक छोर संभाल कर खड़े रहे। साहा ने उनका बखूबी साथ दिया और सातवें विकेट के लिए 199 रनों की साझेदारी कर टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। इन दोनों के बाद जडेजा ने 55 गेंदों में तेज तर्रार 54 रनों की पारी खेल टीम को अहम बढ़त दिलाई।

जडेजा ने ही चौथे दिन दो डेविड वार्नर (14), नाथन लॉयन (2) के विकेट लेकर आस्ट्रेलिया को बैकफुट पर धकेल दिया था। इसी के दम पर भारत ने पांचवें दिन जीत की उम्मीदें बांधी थीं लेकिन मार्श और हैंड्सकॉम्ब ने भारत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???