Patrika Hindi News

> > > > sukma: CEO suspended officers after an inquiry

महात्मा गांधी के नाम पर की गड़बड़ी, जांच के बाद सीईओ ने किया ऐसा हाल

Updated: IST patrika
सुकमा जिले के छिंदगढ़ जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत अतिकारीरास में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना की राशि गबन मामले में सीईओ जिला पंचायत ने रोजगार सहायक और तकनिकी सहायक को निलंबित कर दिया है

सुकमा. छिंदगढ़ जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत अतिकारीरास में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना की राशि गबन मामले में सीईओ जिला पंचायत ने रोजगार सहायक और तकनिकी सहायक को निलंबित कर दिया है।

मनरेगा योजना में भूमि समतलीकरण कार्य जगन्नाथ पिता लालसिंग के नाम स्वीकृत हुआ था। इस पर अधिकारियों ने सरपंच सचिव के साथ मिलकर बिना काम कराए ही फर्जी बिल और व्हाउचर पेश कर एक लाख रुपए का आहरण कर लिया।

इसकी शिकायत पर जिला पंचायत सीईओ मनिवासग्न एस ने गुरूवार को जांच दल अधिकारीरास भेजा। दल ने मौके पर शिकायत को सही पाया। इस पर सीईओ ने तत्काल रोजगार सहायक सोनसिंह और तकनिकी सहायक रुन्द्रप्रताप को निलंबित किया।

सरपंच-सचिव पर गिर सकती है गाज

इस मामले में अब सरपंच और सचिव पर भी कार्रवाई हो सकती है। सरपंच के विरुद्ध एसडीएम को धारा 40 के तहत कार्रवाई का अधिकार हैं। शिकायतकर्ता जगन्नाथ का कहना है, सभी दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

ताकि भविष्य में दुबारा कोई करीब हितग्राहियों के साथ ऐसा करने की हिम्मत नहीं जुटा सके। मालूम हो मामले की शिकायत जिला पंचायत सदस्य धनीराम बारसे ने कलेक्टर से की थी। जांच में शिकायत सही पाई गई।

और भी हो सकते हैं खुलासे

ग्रामीणों ने बताया, अधिकारीरास पंचायत में मनरेगा सहित कई योजनाएं की राशि में गोलमाल हुआ हैं पंचायत के मनरेगा समेत अन्य मदो की राशि के खर्च की जांच हो तो बड़ा खुलासा सामने आ सकता है। भूमि समतलिकरण के और भी मामलों में गड़बड़ी की बात ग्रामीण कह रहे हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे