Patrika Hindi News

बेदखली Notice के बाद सीमांकन शुरू, जवाब देने मौके पर नहीं है SECL

Updated: IST demarcation
अधिकारियों की निगरानी में चल रहा मुख्य मार्ग का सीमांकन कार्य, एसईसीएल अधिकारियों के मौके पर मौजूद नहीं होने से लोगों को नहीं मिल पा रहा अपने सवाल का जवाब

बिश्रामपुर. मुख्य मार्ग के एक किनारे एसईसीएल प्रबंधन द्वारा बेदखली की कार्रवाई की नोटिस स्थानीय दुकानदारों को दिए जाने के बाद जिला प्रशासन द्वारा सीमांकन का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। सीमांकन के कार्य में एसईसीएल का सर्वे विभाग भी शामिल है। इस पर व्यापारियों की नजर बनी हुई है। इधर बेदखली नोटिस मिलने के बाद लोग एसईसीएल से सवाल पूछना चाह रहे हैं, लेकिन अधिकारियों के मौजूद नहीं होने से उन्हें मायूस होना पड़ रहा है।

बेदखली के नोटिस के मामले में गत दिवस एसईसीएल के विश्राम गृह में देर रात तक राजस्व विभाग व एसईसीएल के सर्वे विभाग के अधिकारियों की बैठक हुई। बताया गया कि राजस्व विभाग द्वारा एसईसीएल से भूमि सम्बंधित दस्तावेज मांगे गए थे, एवं इस कार्य में नियमानुसार कार्रवाई का निर्देश देते हुए चाही गई जानकारी को उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए थे।

बहरहाल आज सीमांकन कार्य में पहुंचे एसईसीएल के सहायक अभियंता फिरोज खान से भाजपा पिछड़ा वर्ग के प्रदेश उपाध्यक्ष बनारसी जायसवाल ने कुछ सवाल किए लेकिन उनके पास कोई जवाब नहीं था। जायसवाल ने एसईसीएल से भूस्वामियों के भूमि अधिग्रहण के बावजूद उन्हें नौकरी नहीं दिए जाने की बात कही।

उन्होंने कहा कि मौके पर बिना दस्तावेज के सीमांकन कार्य कैसे कराया जा सकता है। उन्होंने कहा कि एसईसीएल प्रबंधन द्वारा मुख्य मार्ग में 50-60 साल से भी अधिक समय से परिवार का जीविकोपार्जन कर लोगों को बेदखली का नोटिस थमा सीमांकन किया जा रहा है।

लेकिन मौके पर एक भी एसईसीएल का अधिकारी मौजूद नहीं है जो सभी सवाल का जवाब दे सके। सीमांकन के दौरान अपर कलक्टर जेआर भगत, एसडीएम विजेंद्र सिंह पाटले, राजस्व निरीक्षक पीआर भगत सहित राजस्व दल मौजूद था।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???