Patrika Hindi News

> > > > Modi branding cashless economy

मोदी कर रहे हैं कैशलेस की ब्रांडिंग

Updated: IST narendra modi
मोबाइल पर ऑडियो संदेश और वेबसाइटों पर की जा रही है अपील

विनीत शर्मा
सूरत. मोबाइल या फोन पर गैस बुक कराते समय अचानक यदि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने की अपील करते दिखें तो अचंभित मत होइएगा। नकदी के इस्तेमाल को कम करने के लिए केंद्र सरकार इन दिनों कैशलेस को प्रमोट करने की मुहिम चला रही है। वेबसाइट्स पर भी स्क्रीन कवर देकर लोगों को कैशलेस ट्रांजेक्शन का विकल्प सुझाया जा रहा है। यह कवायद नकद लेन-देन के सामने कैशलेस सोसायटी बनाने के लिए की जा रही है।

आठ नवंबर को पांच सौ और हजार रुपए के नोट अचानक बंद करने के प्रधानमंत्री के ऐलान के बाद देशभर में नकदी का संकट खड़ा हो गया है। नए नोट लेने के लिए 21 दिन बाद भी बैंकों के बाहर लोगों की कतारें लगी हुई हैं। इसी बीच काम-धंधे के लिए लोगों ने नकदी से अलग दूसरे तरीकों का भी इस्तेमाल शुरू किया। मौजूदा संकट से उबरने तक कुछ जगह नकदी के लेन-देन के लिए स्थानीय स्तर पर टोकन चलन में आ गए तो कुछ ने ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के विकल्प को अपना लिया। यहां तक कि चाय के स्टाल पर भी पेटीएम और अन्य ऑनलाइन पेमेंट के विकल्प उपलब्ध हो गए। ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट्स पर डेबिट या क्रेडिट कार्ड से पेमेंट लिया जाने लगा।

व्यापार में नकद लेन-देन को भ्रष्टाचार का मूल स्रोत मानते हुए केंद्र सरकार ने भी कैशलेस ट्रांजेक्शंस को बढ़ावा देना शुरू किया है। गुजरात के एक गांव अकोदरा के बाद गोवा देश का ऐसा पहला राज्य बनने जा रहा है, जो पूरी तरह कैशलेस होगा। नोटबंदी के बाद केंद्र सरकार अब कैशलेस ट्रांजेक्शन पर फोकस कर रही है। देश को कैशलेस बनाने के लिए ऑनलाइन बुकिंग जंक्शंस पर भी ऑडियो और स्क्रीन कवर संदेश दिए जा रहे हैं। इसके लिए खुद प्रधानमंत्री ने आगे बढ़कर ऑडियो संदेश देने शुरू किए हैं। साथ ही वेबसाइटों पर भी कैशलेस व्यापार को बढ़ावा देने की अपील की जा रही है। सरकारी वेबसाइटों पर तो बाकायदा इन अपीलों के स्क्रीन कवर तक आ रहे हैं।

सुझाए कैशलेस के विकल्प

नकद लेन-देन से अलग कैशलेस पेमेंट के लिए लोगों को पांच विकल्प सुझाए जा रहे हैं। इनमें किसी भी बैंक का यूपीआई एप, प्रीपेड वालेट, यूएसएसडी, डेबिट या क्रेडिट कार्ड और आधार कार्ड से माइक्रो एटीएम के विकल्प मोबाइल पर उपलब्ध हैं।

यह है संदेश

ऑडियो संदेश में प्रधानमंत्री लोगों को मोबाइल पर तकनीकी एप्लीकेशन डाउनलोड करने की सलाह दे रहे हैं। दूध, चाय, सब्जी, धोबी यहां तक कि अखबार के भुगतान के लिए भी वह ऑनलाइन कैशलेस भुगतान की अपील कर रहे हैं। मोदी लोगों से कैशलेस सोसायटी के लिए समर्थन मांग रहे हैं। ऑनलाइन वेबसाइट्स पर भी इसी तरह की अपील का स्क्रीनकवर सामने आ रहा है।

मॉडरेटर देता है अमल की सलाह

ऑडियो संदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कैशलेस सोसायटी बनाने में आम आदमी से सहयोग की अपील करने के बाद मॉडरेटर भी लोगों से मुखातिब होता है। मॉडरेटर लोगों को प्रेरित करता है कि प्रधानमंत्री की अपील पर जहां जरूरी न हो, नकद भुगतान से बचा जाए। ई-पेमेंट के गेटवे की जानकारी भी मॉडरेटर ही श्रोताओं को दे रहा है। आर्थिक विषयों के जानकार कैशलेस इकोनामी को भविष्य के लिए बेहतर बता रहे हैं। उनके मुताबिक इससे विकास दर बेहतर होगी।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???