Patrika Hindi News

पार्किंग पॉलिसी पर मनपा की कवायद पूरी

Updated: IST surat
मनपा प्रशासन ने पार्किंग पॉलिसी पर कवायद पूरी कर ली है। इसे स्टैंडिंग कमेटी के पास भेजने की तैयारी है। माना

सूरत।मनपा प्रशासन ने पार्किंग पॉलिसी पर कवायद पूरी कर ली है। इसे स्टैंडिंग कमेटी के पास भेजने की तैयारी है। माना जा रहा है कि इसी महीने के अंत तक इसे अप्रूवल के लिए कमेटी को सौंप दिया जाएगा।

सड़कों पर आए दिन जाम और पार्किंग की समस्या से जूझ रहे सूरतीयों को राहत के लिए मनपा प्रशासन ने पार्किंग पॉलिसी बनाने की कवायद शुरू की थी। इसके लिए मनपा ने स्टेक होल्डर्स के साथ चर्चा की और लोगों से सुझाव लिए। पार्किंग पॉलिसी पर काम कर रही कंसलटेंट एजेंसी ने स्टेक होल्डरों की बैठक में प्रजेंटेशन के माध्यम से इसका खाका सामने रखा था। पार्किंग पॉलिसी का ड्राफ्ट सार्वजनिक करते हुए बताया गया था कि शहर को तीन हिस्सों में बांट कर उसी के अनुरूप पार्किंग के नियम-कायदे बनाए गए हैं।

पुराने और घनी आबादी वाले हिस्से को कोर सिटी का नाम दिया गया, जबकि कोर सिटी से बाहर के हिस्से को बफर जोन और तीसरी लेयर के बाहरी हिस्से को एक्सटर्नल एरिया कहा गया। पार्किंग पॉलिसी का मास्टर प्लान लगभग तैयार है। मनपा प्रशासन इसे स्थाई समिति में भेजने की तैयारी कर रहा है। वहां से हरी झंडी मिलने के बाद इसे मंजूरी के लिए राज्य सरकार को भेजा जाएगा। राज्य सरकार इसे विधानसभा से पारित कराकर कानून की शक्ल देगी।

पुलिस के अधिकारों पर कैंची

पार्किंग पॉलिसी पर अमल होता है तो ट्रैफिक सिस्टम से जुड़े पुलिस कर्मचारियों के अधिकारों पर कैंची चलेगी। पॉलिसी को मंजूरी मिलने के बाद मनपा प्रशासन सड़क किनारे खड़े वाहनों को टो करने के साथ ही उनके खिलाफ कार्रवाई भी करेगा। अब तक यह अधिकार पुलिस के पास है।

इलाके के हिसाब से चार्ज

तीनों हिस्सों में पार्किंग के लिए फार्मूला तय किया गया है। इसके मुताबिक संबंधित क्षेत्र में तय मानकों के आधार पर पार्किंग चार्ज वसूला जाएगा। इसमें जमीन की कीमत, जमीन के दामों में वृद्धि के कारक, वाहनों का प्रकार, पार्किंग का इस्तेमाल कर रहे वाहनों की संख्या और आवृत्ति समेत अन्य तत्व शामिल हैं। सॉफ्टवेयर के माध्यम से पार्किंग शेयरिंग सिस्टम को मॉनिटर किया जाएगा। साथ ही बीआरटीएस, हाईमोबिलिटी कॉरिडोर, सिटी बस और भविष्य में चलने वाली मेट्रो के टर्मिनल के समीप वाहन पार्क करने की व्यवस्था की जाएगी।

ट्रैफिक सर्वे के लिए जोनवार सड़कें तय

सड़कों पर ट्रैफिक पैटर्न को समझने के लिए मनपा प्रशासन ने जोनवार सड़कों का चयन किया है। कंसलटेंट की रिपोर्ट मिलने के बाद ट्रैफिक सिस्टम को बेहतर करने के उपाय किए जाएंगे। रास्तों पर ट्रैफिक के दबाव के कारण लोगों का जाम में फंसना रोजमर्रा की बात है। इसमें सड़क किनारे खड़े वाहन बड़ी बाधा बनते हैं। यह मामला संज्ञान में आने पर मनपा आयुक्त ने अधिकारियों को जोनवार सघन ट्रैफिक वाले रास्तों का चयन कर ट्रैफिक पैटर्न और पार्किंग सिस्टम का अध्ययन कराने की बात कही थी।

इसके तहत ऑन साइट पार्किंग, विजिटर पार्किंग, पार्किंग प्लेस के अभाव में सड़क पर खड़े हो रहे वाहनों की संख्या और पीक आवर्स में पार्किंग के भार को समझना है। साथ ही यह भी देखना है कि कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स में प्लान के मुताबिक ऑन साइट पार्किंग की व्यवस्था है या नहीं। जिन जगह पार्किंग की ज्यादा दिक्कत आ रही है और वाहनों के सड़क पर खड़े होने से रास्ता जाम की हालत बन रही है, कंसलटेंट एजेंसी को वहां ऑन साइट पार्किंग की संभावनाएं भी तलाशनी हैं। मनपा की जोन टीमों ने अपने-अपने क्षेत्र में ट्रैफिक दबाव वाले रास्तों का चुनाव कर लिया है।

जोनवार चयनित रास्ते

सेंट्रल जोन : मजूरा गेट से विजय वल्लभ चौक होते हुए क्षेत्रपाल मंदिर तक।

अठवा जोन : अठवा गेट से वाई जंक्शन।

वराछा जोन : सूर्यपुर गरनाला से हीराबाग तक, वराछा मेन रोड।

उधना जोन : उधना चौराहा से सत्यनगर तक, उधना मेन रोड।

रांदेर जोन : भुलका भवन से प्राइम मार्केट तक, आनंद महल रोड

लिंबायत जोन : रिंगरोड पर सालासर गेट से सी टाइप रोड।

कतारगाम जोन : प्राणनाथ हॉस्पिटल से सिंगणपोर चौक तक वेड रोड।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???