Patrika Hindi News

लगातार हमले की घटनाओं पर  मिनी सौराष्ट्र में सुरक्षा बढ़ाई

Updated: IST surat
शहर में मिनी सौराष्ट्र के उपनाम से पहचाने जाने वाले वराछा, कापोद्रा, सरथाणा और पूणागाम थाना क्षेत्र में पिछले

सूरत।शहर में मिनी सौराष्ट्र के उपनाम से पहचाने जाने वाले वराछा, कापोद्रा, सरथाणा और पूणागाम थाना क्षेत्र में पिछले दिनों चाकू से हमले की घटनाओं को लेकर पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। शहर पुलिस आयुक्त सतीष शर्मा ने रविवार को मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि शहर के अन्य थानों से स्थानांतरित कर करीब सौ पुलिसकर्मियों इन क्षेत्रों में तैनात किया गया है।

वराछा थाने में 2 पुलिस उप निरीक्षक,15 पुलिसकर्मी, एक पीसीआर वैन आवंटित की गई है। कापोद्रा में 50 पुलिसकर्मी, एक पीसीआर वैन, 5 मोटर साइकिलें, जबकि सरथाणा थाने में 30 पुलिसकर्मी, एक पीसीआर वैन और 5 मोटर साइकिलें दी गई हैं।

पूणागाम थाने में भी पांच मोटर साइकिलें आवंटित की गई हैं, जिससे इन इलाकों में पुलिस की गश्त तथा सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत बनाया जा सके। उल्लेखनीय है कि इन इलाकों में पिछले कुछ दिनों से मोटर साइकिल सवार अपराधियों का आतंक बढ़ गया है। महिलाओं के गले से चेन छीनने तथा राहगीरों पर चाकू से हमला कर उनसे मोबाइल और कीमती सामान लूटने की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। चार दिन पहले कापोद्रा क्षेत्र में सड़क हादसे के विवाद में एक युवक की हत्या कर दी गई थी।

प्रवेश और निकास पर नाकेबंदी

शहर पुलिस आयुक्त ने बताया कि इन चारों थाना क्षेत्रों में प्रवेश और निकास के मुख्य मार्गों तथा संवेदनशील स्थानों का चयन कर वहां नाकेबंदी की व्यवस्था की गई है। इन नाकों पर वॉकीटॉकी और आधुनिक हथियारों से लैस पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे।

इसके अलावा क्राइम ब्रांच की दो और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप की चार टीमें प्रतिदिन शाम छह बजे से रात 12 बजे के दौरान विशेष तलाशी अभियान चलाएंगी। हिंसा से जुड़े मामलों में जितने आरोपी पकड़े गए हैं, यदि वह जमानत पर फिलहाल जेल से बाहर हैं तो उन्हें राउंड-अप करने के आदेश सभी थाना प्रभारियों को दिए गए हैं। वह कोर्ट की जमानत शर्तों का पालन कर रहे हैं या नहीं तथा फिलहाल किस तरह की प्रवृत्ति में लिप्त हैं, इसकी जांच कर आवश्यक कार्रवाई का आदेश दिया गया है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???