Patrika Hindi News

> > > > Ambikapur : A dozen men entered the house and desruptive beaten student’s by rod-sticks

घर में घुसकर दर्जनभर लोगों ने रॉड-डंडे से की छात्र की पिटाई, Car में भी तोडफ़ोड़

Updated: IST police on the spot
पीडि़त छात्र ने परिजनों के साथ गांधीनगर थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट, बाद में पुलिस ने दोनों तरफ से दर्ज की एफआईआर

अंबिकापुर. गांधीनगर के फुन्दुरडिहारी कॉलोनी में मंगलवार की रात एक दर्जन युवकों ने 12वीं कक्षा के एक छात्र के मकान पर धावा बोल दिया। रॉड-डंडे से लैस दबंग युवकों ने मकान में बाहर खड़ी कार में तोडफ़ोड़ किया। छात्र के विरोध करने पर उसकी जमकर पिटाई की। इसके बाद वहां से फरार हो गए।

गांधीनगर पुलिस ने सूचना के लगभग दो घंटे बाद भी कार्रवाई नहीं की। इससे नाराज विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारियों ने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। देर रात पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायत पर काउंटर एफआईआर दर्ज की है।

ये है मामला

फुन्दुरडिहारी मुक्तिपारा स्थित सावन किराने के पास के रहने वाले आकाश दुबे 12वीं का छात्र है। वह मंगलवार की रात 8 बजे अपने मकान के बाहर मौजूद था। इस दौरान असीम तिर्की, सनील टोप्पो, सुनील, रोहित सेवइया, रोशनलाल सिंह, आशीष सहित करीब 10-12 युवक लाठी-डंडे से लैस होकर वहां आए और उसे गाली देने लगे।

यह देख वह घबराकर कमरे में घुस गया। इसके बाद युवक जबरन उसके घर में घुस गए। घर में मौजूद महिलाओं के विरोध करने पर पहले युवकों ने बाहर खड़ी कार में तोडफ़ोड़ कर क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके बाद आकाश की जमकर पिटाई की। आवाज सुनकर मौके पर आस-पास के लोगों को आता देख युवक वहां से फरार हो गए।

सूचना पाकर मौके पर अरुण दुबे आए और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने लगभग दो घंटे तक एफआईआर दर्ज नहीं की। इसकी भनक लगते ही थाने पर विश्व हिंदू परिषद के लोग पहुंच गए और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद आकाश की शिकायत पर मुकदमा दर्ज करने के बजाय पुलिस ने दोनों पक्षों के तरफ से धारा 294,506,452,147,427 में क्रास मुकदमा दर्ज किया।

दोनों पक्षों के बीच हुई है मारपीट

दोनों पक्षों एक-दूसरे के घर में घुसकर मारपीट की है। इसलिए काउंटर एफआईआर दर्ज की गई है।

सुरेश भगत, टीआई गांधीनगर

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???