Patrika Hindi News

> > > > Ambikapur : Tehsildar had embarrassed the department, collector’s actions

तहसीलदार ने विभाग को कर दिया था शर्मसार, Collector ने की कार्रवाई

Updated: IST Collector order
रामानुजगंज क्षेत्र के जलकेश्वरपारा स्थित छोटे झाड़ की भूमि का तहसीलदार ने तैयार कर दिया था पट्टा, शिकायत पर कलेक्टर ने आदेश किया शून्य

अंबिकापुर. बलरामपुर कलक्टर ने छोटे झाड़ के जंगल की भूमि का फर्जी तरीके से पट्टा प्राप्त करने के बाद उसे बेचे जाने के मामले में बुधवार को फैसला सुनाया। उन्होंने आदेश में पट्टे को शून्य घोषित करते हुए भूमि को राजस्व रिकार्ड में छोटे झाड की भूमि दर्ज करने का निर्देश दिया है। कलक्टर के आदेश से रामानुजगंज क्षेत्र में हडकंप मचा हुआ है।

रामानुजगंज क्षेत्र के जलकेश्वरपारा के खसरा क्रमांक 309 का रकबा क्रमांक 2.60 एकड़ भूमि का पट्टा वर्ष 1959 में छोटे झाड के जंगल की भूमि का पाल क्षेत्र के तात्कालीन तहसीलदार से मिलीभगत कर अदिती पिता जतनराम द्वारा फर्जी तरीके से पट्टा प्राप्त कर लिया गया था।

इसके साथ ही सुखारी पिता रामरति द्वारा भी खसरा क्रमांक 308 का रकबा 2.70 एकड़ छोटे झाड़ के जंगल की भूमि का पट्टा प्राप्त किया गया था। वर्ष 1972 में अदिती व सुखारी की पुत्री राधा ने छतासेन को पट्टे में प्राप्त भूमि को बेच दिया गया था। वहीं वर्ष 2007 में छतासेन द्वारा रामानुजंगज निवासी प्रेमनाथ केशरी, शिवनाथ केशरी व बैजनाथ केशरी को उक्त भूमि बेच दिया गया था।

मामले में रामानुजगंज निवासी तुलसीराम द्वारा भू-राजस्व संहिता की धारा 165(7)(ख) के तहत पट्टा को शून्य घोषित करने हेतु आवेदन कलक्टर सरगुजा के समक्ष प्रस्तुत किया गया था। बलरामपुर जिला गठन के बाद मामले की सुनवाई कलक्टर बलरामपुर द्वारा किया गया। मामले में आए तथ्यों के आधार पर बुधवार को बलरामपुर कलक्टर अविनाश शरण ने आदेश पारित किया।

पट्टा जारी करते समय राजस्व रिकार्ड में भूमि छोटे झाड के जंगल के रूप में दर्ज था। तात्कालीन तहसीलदार द्वारा नियम को दरकिनार करते हुए पट्टा जारी कर दिया गया था। पट्टे की भूमि को बिना अनुमति के बेच भी दिया गया था।

कलक्टर ने आदेश पारित करते हुए पट्टा को शून्य घोषित करने के साथ राजस्व रिकार्ड में शासकीय भूमि के रूप में इंद्राज करने का आदेश जारी करने के साथ ही वापस छोटे झाड़ का जंगल घोषित किया है। कलक्टर के आदेश से रामानुजगंज क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है।

कई बार आई थी शिकायत

जलकेश्वरपारा में स्थित शासकीय भूमि का पट्टा प्राप्त किए जाने की शिकायत कई बार प्रशाासकीय अधिकारियों को की गई थी। लेकिन कलक्टर बलरामपुर ने बुधवार को आदेश जारी करते हुए पट्टा को शून्य घोषित करने के साथ आगे की कार्रवाई के लिए तहसीलदार को प्रेषित कर दिया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???