Patrika Hindi News

खरीदी केंद्र में पर नहीं दिख रहे किसान

Updated: IST Moong do crop weighed pillared
मप्र राज्य सहकारी विपणन बोर्ड भंडारण केन्द्र बडौरा में समर्थन मूल्य पर ग्रीष्मकालीन फसल की खरीद की जा रही है। सरकारी समर्थन मूल्य पर मूंग का भाव 52.25 रुपए प्रति किलो, उड़द का भाव 50 रुपए प्रति किलो और प्याज 8 रुपए प्रति किलो के हिसाब से खरीदी जा रही है।

टीकमगढ़। मप्र राज्य सहकारी विपणन बोर्ड भंडारण केन्द्र बडौरा में समर्थन मूल्य पर ग्रीष्मकालीन फसल की खरीद की जा रही है। सरकारी समर्थन मूल्य पर मूंग का भाव 52.25 रुपए प्रति किलो, उड़द का भाव 50 रुपए प्रति किलो और प्याज 8 रुपए प्रति किलो के हिसाब से खरीदी जा रही है।

हालांकि फसल की खरीदी में किसान कम और क्षेत्रीय व्यापारियों के साथ वेयर हाउस संचालकों का अनाज ज्यादा दिखाई दे रहे हैं। पत्रिका टीम ने इस केन्द्र का जायजा लिया तो क्षेत्रीय व्यापारी किसानों की पासबुक खाता क्रमांक, ऋण पुस्तिका और आधार कार्ड की फोटोकॉपी लेकर खरीदी केंद्र प्रभारी से टोकन बनवाकर मूंग और उड़द को तुलवा रहे थे। विदित हो कि राज्य सरकार ने ग्रीष्मकालीन फसल की खरीदी के लिए 15 से 30 जून तक के निर्देश दिएथे।

खरीद केन्द्र पर क्षेत्रीय व्यापारियों के वाहन मूंग से भरे ही नजर आ रहे थे। वह व्यापारी मोहनगढ़ क्षेत्र के कई किसानों की पासबुक खाता क्रमांक, आधार कार्ड और भूमि ऋण पुस्तिका साथ में लिए थे। वाहन के बारे में जानकारी चाही तो चालक और मालिक मौके से खिसक लिए। वाहनों में भरे माल का कूपन काटा तब जाकर पता चला कि यह माल किसान का नहीं है। एक व्यापारी के पास आधा दर्जन किसानों के दस्तावेज थे। सभी ने किसानों के नाम कूपन कटवा रहे थे।

किसानों के लिए नहीं पानी की व्यवस्था

खरीदी केन्द्र पर एक खाली पानी का मटका रखा था। कई पल्लेदार अनाज के बोरियों को लाईन में लगा रहे थे। दो किसान पानी की तलाश कर रहे थे, लेकिन मटका खाली था। पानी नहीं मिलने के कारण किसान खरीदी केंद्र से बाहर जाकर पानी के लिए भटक रहे थे।

वापस खरीफ की उड़द लेकर जा रहे थे किसान

बैदऊ निवासी गोविंद्र घोष, बिलगाय निवासी सुखनंदन घोष, प्रीतम यादव और सत्येंद्र सिंह समर्थन मूल्य पर खरीफ की उड़द को बेचने के लिए खरीदी केंद्र पर लेकर आए, खरीदी केन्द्र प्रभारी ने खरीफ की फसल को खरीदने से मना कर दिया। इससे किसानों को निराश लौटना पड़ा। किसानों का कहना था कि एक तरफ तो प्रशासन उड़द खरीदी के लिए समाचार पत्रों में सूचना प्रकाशित करवाता है। दूसरी ओर खरीदी केंद्र वाले उड़द खरीदने से मना करते हैं।

ग्रीष्म खरीदी में नहीं मिला किसानों को लाभ

किसान महेंद्र यादव, विनोद कुशवाहा और सोवरन चढ़ार ने बताया कि जिले में पिछले वर्ष खराब मौसम के कारण किसान कर्ज बढ़ गया। किसानों की आर्थिक स्थिति कमजोर हुई है।फसल पकते ही साहूकारों का कर्ज चुकाने के लिए किसान क्षेत्र के व्यापारियों को कम दरों में ही बेचने को मजबूर हैं।

फैक्ट फाइल

प्याज के कुल किसान प्याज की दर कुल खरीदी प्याज कुल रुपए

58 8 रुपए प्रतिकिलो 208 2 क्विंटल 16 ,6 5,6 00रु.

उड़द के कुल किसान उड़द की दर कुल खरीदी उड़द कुल रुपए

9 50 रुपए प्रति किलो 98 क्विंटल 4,92000 हजार रु.

मूंग के कुल किसान मूंग की दर कुल खरीदी मूंग कुल रुपए

27 52.25 रुपए 523 क्विंटल 27,32,6 75 रु

इनका कहना:-

शासन के निर्देश पर किसानों से गीष्मकालीन फ सल की खरीदी की जा रही है। अगर खरीदी केंद्रों में व्यपारियों द्वारा अनाज को लाया जा रहा है, जो मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।-अर्जुन सिंह धुव्र, जिला विपणन अधिकारी टीकमगढ़।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???