Patrika Hindi News

रजनीकांत ने कहा, अच्छे नेता हैं, लेकिन हमारी व्यवस्था भ्रष्ट है

Updated: IST RAJINIKANTH
रजनीकांत अपने फैंस से हुए रूबरू...राजनीति में आने के दिए संकेत...

चेन्नई। सुपरस्टार रजनीकांत ने शुक्रवार को कहा कि राजनीति में अच्छे नेता मौजूद हैं, पर व्यवस्था में भ्रष्टाचार है। रजनीकांत ने चेन्नई में अपने प्रशंसकों की भीड़ को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि यह उनके राजनीति में आने का उपयुक्त समय नहीं है। उनकी इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनका रानीति में आने का इरादा तो है, लेकिन उसके लिए उन्हें सही समय का इंतजार है। रजनीकांत ने प्रशंसकों की तालियों की गडग़ड़ाहट के बीच कहा, "मेरा अपना पेशा है, अपना काम है। मेरी कुछ जिम्मेदारियां हैं और आपके पास भी अपने काम हैं। जाइए और अपने काम कीजिए। हम तब मिलेंगे, जब जंग का समय होगा।"

इससे पहले बुधवार को प्रशंसकों के साथ एक फोटो सत्र के बाद उन्होंने संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा था, "अगर ईश्वर की मर्जी होगी, तो मैं राजनीति में आऊंगा।" अभिनेता ने साथ ही स्पष्ट किया कि वह राजनीतिक व्यवस्था के खिलाफ हैं, किसी नेता के नहीं। उन्होंने कहा, "हमारे पास (एमके) स्टालिन, अंबुमणि (रामदास) और सीमन जैसे अच्छे नेता हैं। लेकिन जब राजनीतिक व्यवस्था ही खराब हो और लोकतंत्र में गिरावट आ गई हो, तब हम क्या करें। इस व्यवस्था में बदलाव लाने की जरूरत है और लोगों की मानसिकता में बदलाव लाने की जरूरत है। तभी यह देश फलेगा-फूलेगा।"

तमिल न होने और एक बाहरी होने से जुड़ी आलोचनाओं को लेकर रजनीकांत ने कहा, "मैं 23 साल कर्नाटक और 43 साल तमिलनाडु में रहा। हालांकि मैं कर्नाटक से एक मराठी के तौर पर आया था, लेकिन आप लोगों के प्यार व साथ ने मुझे पूरी तरह तमिल बना दिया है।"

सूत्रों की मानें, तो पिछले तीन सालों से 66 वर्षीय अभिनेता रजनीकांत का कई भाजपा मंत्रियों और कुछ आरएसएस नेताओं से मिलना-जुलना जारी है। बीजेपी भी उन्हें आने वाले वर्षों में पार्टी के लिए संभावित चेहरा मान रही हैं। यदि रजनीकांत बीजेपी जॉइन करते हैं, तो इससे तमिलनाडु में पार्टी की पकड़ मजबूत होगी,क्योंकि वहां अभिनेता को भगवान की तरह पूजा जाता है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???