Patrika Hindi News

> > > > doneshan on mahakaleshwar temple in cctv

महाकाल के दान पर अब रहेगी सीसीटीवी कैमरों की नजर

Updated: IST doneshan on mahakaleshwar temple in cctv
महाकालेश्वर के दरबार में अब सबकुछ पारदर्शी होगा। दान पेटी से राशि चोरी की घटना के बाद कलेक्टर संकेत भोंडवे ने गड़बड़ी रोकने के लिए तीन सदस्यीय जांच समिति गठित की थी।

उज्जैन. महाकालेश्वर के दरबार में अब सबकुछ पारदर्शी होगा। दान पेटी से राशि चोरी की घटना के बाद कलेक्टर संकेत भोंडवे ने गड़बड़ी रोकने के लिए तीन सदस्यीय जांच समिति गठित की थी। इस समिति ने नया प्रतिवेदन कलेक्टर को सौंप दिया है। आने वाले दिनों में मंदिर में कई बड़े बदलाव के संकेत मिल रहे हैं। कांच के कैबिन में नोटों की गिनती होगी, जिससे सबकुछ साफ-साफ नजर आएगा।

भक्तों द्वारा राशि भेंट की जाती है
मंदिर में भक्तों द्वारा राशि भेंट की जाती है। दान पेटियों से निकली राशियों की गणना में भी पारदर्शिता रखी जाएगी। पिछले दिनों गणना में हुई गड़बड़ी पर कलेक्टर ने जांच समिति का गठन किया था। इस समिति ने प्रतिवेदन कलेक्टर को सौप दिया है। कलेक्टर ने प्रतिवेदन के आधार पर प्रशासक को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं, जिनका पालन करना होगा, नहीं तो कर्मचारियों के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। प्रशासक रजनीश कसेरा ने बताया दानपेटी की राशि की गणना को पारदर्शी एवं सीसीटीवी कैमरों की जद में रख रिकॉर्डिंग व डाटा प्राप्त करने की जिम्मेदारी भी अधिकारी वर्ग की रहेगी।

doneshan on mahakaleshwar temple in cctv

कुछ ऐसी रहेगी दान पेटियों की व्यवस्था
- दान पेटियों में राशि डालने वाले स्थान के नीचे त्रिकोणाकार पट्टी लगी होगी, जिससे राशि डालते ही वह नीचे की तरफ गिर जाएगी। प्रत्येक दानपेटी का एक नंबर होगा तथा स्टॉक रजिस्टर रहेगा। अभी दानपेटी से राशि निकालकर जूट के बोरे में डालकर गणना कक्ष तक ले जाई जाती है। उस बोरे को सील्ड नहीं किया जाता है, जबकि सील्ड कर गणना कक्ष तक ले जाना चाहिए।
- भेंट पेटी से राशि निकालकर गणना स्थल तक ले जाने वाले मार्ग में सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। गणना कक्ष को फायबर ग्लास से फोल्डेबल एवं पोर्टेबल बनाया जाएगा। कक्ष का फ्लोर जमीन से एक-दो फीट ऊपर रखा जाएगा, जो पारदर्शी होगा।

- राशि गणना के लिए बैंक कर्मचारियों को बैंक द्वारा लिखित आदेश दिया जाएगा। इसी तरह मंदिर प्रबंधन द्वारा भी नियत पर्यवेक्षक, सहायक, भृत्य को भी लिखित आदेश जारी होंगे। गणना के दौरान सुरक्षा गार्ड उपस्थित रहेगा।
- दानपेटी जब सीलिंग की जाती है, उस पर पर्यवेक्षक व सहायक के हस्ताक्षर होते हैं जबकि हस्ताक्षर के साथ नाम, पदमुद्रा तथा सील करने का समय व तारीख लिखी जाना चाहिए। ताले की सीलिंग के लिए केवल टेप चिपका दिया जाता है, हस्ताक्षर नहीं हैं, जबकि ताले पर भी विधिवत सीलिंग पेपर चस्पा कर उस पर हस्ताक्षर पदमुद्रा सहित किए जाएंगे।

doneshan on mahakaleshwar temple in cctv

- गणना कार्य में लगे कर्मचारियों की अलग से ड्रेस रहेगी। गणना टेबल पर होगी, न कि फर्श पर बैठकर।
- गणना के पूर्व मंदिर परिसर में अनाउंसमेंट किया जाएगा, कि दान राशि की गणना प्रारंभ की जा रही है। इच्छुक शृद्धालु यदि गणना की प्रक्रिया देखना चाहें, तो उसे सुरक्षित दूरी से नियत समय तक देखने की अनुमति प्राप्त करें।
- दानदाता दान राशि ऑनलाइन भी कर सकते हैं। इस आशय की सूचना मंदिर की दोनों धर्मशालाओं, रिसेप्शन स्थल, समस्त कक्षों, विभिन्न काउन्टरों, रेल्वे स्टेशन, बस स्टैंड तथा महाकाल की वेबसाइट पर भी अंकित होगी।
- दान की मेनुअल रसीद दी जाती है उनके प्रमाणीकरण हेतु होलोग्राम का प्रयोग किया जाएगा। होलोग्राम संधारण एवं रसीदों पर उन्हें लगाने का कार्य सहायक प्रशासक या सहायक प्रशासनिक अधिकारी की देखरेख में होगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???