Patrika Hindi News

यहां गर्मी का ऐसा असर... बाइक पर टांगकर तो हाथ ठेले पर ढो कर लाना पड़ता है पीने का पानी 

Updated: IST water trouble
भीषण गर्मी के साथ शहर में जलसंकट गहराने लगा है। शहर के रहवासी इलाकों के हालात यह हैं कि आक्रोशित महिलाएं नगर पालिका पहुंचकर आंदोलन करने की चेतावनी दे रही हैं।

नागदा. भीषण गर्मी के साथ शहर में जलसंकट गहराने लगा है। शहर के रहवासी इलाकों के हालात यह हैं कि आक्रोशित महिलाएं नगर पालिका पहुंचकर आंदोलन करने की चेतावनी दे रही हैं।
पेयजल की परेशानी से जूझ रही महिलाओं का सब्र का बांध गुरुवार दोपहर को फूट पड़ा। दयानंद कॉलोनी की एक दर्जन से अधिक महिलाएं दोपहर 12.30 बजे नगर पालिका अध्यक्ष अशोक मालवीय के समक्ष पहुंचकर जलसंकट से निजात दिलाने की मांग करने लगी। महिलाओं का कहना था कि हम समय पर जलकर जमा करते हैं, तो जलसंकट से क्यों लड़ें। परेशानियों को सुनकर नपाध्यक्ष मालवीय ने वैकल्पिक इंतजाम करने का आश्वासन दिया। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने से कॉलोनी की महिलाओं ने प्रतिदिन नगर पालिका कार्यालय पहुंचकर धरना देने की चेतावनी दी है। परेशानी यहीं खत्म नहीं होती है। अंजनी नगर के रहवासियों को पेयजल हाथ ठेला व दो पहिया वाहनों से ढोना पड़ रहा है। उक्त क्षेत्र में वर्ष भर जलसंकट गहराया रहता है।
पेयजल के लिए एक किमी का फेरा....
अंजनी नगर के रहवासी आर्थिक रूप से समृद्ध नहीं हैं। ऐसे में पेयजल के लिए क्षेत्र के लोगों को ऑटो या दो पहिया वाहन करने पानी जुटाना पड़ रहा है। क्षेत्र के लोग एक किमी दूर स्थित मारुति नगर से पेयजल लेकर आते हैं। उन्हें तीन बार तक चक्कर लगाना पड़ता है। इतना ही नहीं क्षेत्र के युवा हाथ ठैला पर पानी के बर्तन रखकर पानी का परिवहन करते हैं। यहां सुविधा के नाम पर करीब 5 हजार लीटर की दो टंकिया हैं, लेकिन उक्त दोनों टंकियों में पेयजल लायक पानी नहीं है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???