Patrika Hindi News

> > > > martyr balaram joshi jayanti laid a wreath

शहीद बलराम जोशी : हम घर सजाने में लगे रहे, वो चमन सजाकर चले गए

Updated: IST martyr balaram joshi jayanti laid a wreath
कारगिल युद्ध के शहीद बलराम जोशी को 42वीं जयंती पर भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। देशभक्ति पूर्ण माहौल में कवियों ने ओज से ओतप्रोत रचनाओं का पाठ किया, वहीं बच्चों ने भी प्रस्तुतियों से समां बांधा।

उज्जैन. कारगिल युद्ध के शहीद बलराम जोशी को 42वीं जयंती पर बच्चों व गणमान्यजनों ने भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। देशभक्ति पूर्ण माहौल में हुए इस आयोजन में कवियों ने ओज से ओतप्रोत रचनाओं का पाठ किया, वहीं बच्चों ने भी प्रस्तुतियों से समां बांधा।

बच्चों ने जोशी की प्रतिमा पर पुष्प चढ़ाए
बुधवार सुबह 9 बजेकवियों ने शहीद बलराम जोशी को कुछ इस अंदाज में हम घर सजाने में लगे रहे, वो चमन सजाकर चले गए...श्रद्धांजलि दी। बच्चों ने दुश्मन के छक्के छुड़ा दें...हम इंडियावाले, सहित अन्य गीतों पर प्रस्तुतियां दीं। गंधर्व ट्यूटोरियल व मृणालिनी संगीत कला केंद्र के 100 से अधिक बच्चों ने बलराम जोशी की आदमकद प्रतिमा पर पुष्प चढ़ाए। इस दौरान पिता राधेश्याम व माता सरजूदेवी जोशी, बहन मां आनंदमयी, दुर्गा जोशी सहित अन्य परिजन भी मौजूद रहे। गणमान्यजनों में शहर कांग्रेस अध्यक्ष अनंतनारायण मीणा, पार्षद बुद्धिप्रकाश सोनी, राजश्री जोशी, अभिव्यक्ति मंच संयोजक राजेश अग्रवाल, केदार बंसल, पूर्व पार्षद कैलाश बिसेन सहित अन्य लोग मौजूद थे। संचालन शकैब कुरेशी ने किया। आभार कमल चौहान ने माना।

martyr balaram joshi jayanti laid a wreath

कब हुआ था कारगिल युद्ध
कारगिल युद्ध भारत और पाकिस्तान के बीच मई और जुलाई 1999 के बीच कश्मीर के करगिल जिले में हुआ था। पाकिस्तान की सेना का सामना करना पड़ा। परमाणु बम बनाने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हुआ यह पहला सशस्त्र संघर्ष था। जब पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान से अच्छे संबंध बनाने के विचार से फरवरी 1999 में बस द्वारा नई दिल्ली से लाहोर तक की ऐतिहासिक यात्रा की तो उन्हें इसका तनिक भी आभास नहीं था कि कारगिल युद्ध जैसे संघर्ष का सामना करना पड़ेगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???