Patrika Hindi News

Video Icon उन्नाव में इस तरीके से लूट की घटना को देता था अंजाम

Updated: IST Unnao Crime
वाहन स्वामी से बुकिंग के नाम पर लेता था गाड़ी और फिर...

उन्नाव. ओमनी कार को मालिक से बुकिंग पर लेकर निकलता चालक रास्ते में सवारियां बैठा कर उससे लूटपाट करते थे।जिसके पास से मोबाइल रुपए नगदी सोना चांदी आदि लूटकर शहर से 200 किलोमीटर दूर ले जाकर फेंक देते थे। घटना की जानकारी परिजनों को तब होती थी, जब वापस आकर पीड़ित घरवालों वा थाना पुलिस को बताता था। सक्रिय गिरोह के सदस्यों को पकड़ने के लिए पुलिस टीम का गठन किया गया, जिसमें क्षेत्राधिकारी नगर व क्राइम के साथ सर्विलांस टीम, माखी थाना पुलिस शामिल थी। मुखबिर की सूचना पर टीम को बड़ी सफलता मिली। गिरोह के चार सदस्य पकड़े गए। अन्य 4 को पुलिस तलाश रही है। खुलासा करने वाली टीम के सदस्यों के लिए पुलिस अधीक्षक ने पुरस्कार की घोषणा की है।

पकड़े गए अपराधियों में दो उन्नाव व दो हरदोई के

अपर पुलिस अधीक्षक रामसेवक गौतम ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि गिरोह का सदस्य पिंटू उर्फ सुमित पासी पुत्र कल्लू पासी निवासी दयाल खेड़ा थाना सदर कोतवाली मालिक से कार को बुकिंग पर ले जाने के लिए मांग कर निकलता था। जिससे वाहन स्वामी को किसी प्रकार का शक ना हो। उन्होंने बताया कि पिंटू अपने साथियों प्रेम वर्मा पुत्र श्रीपाल निवासी रुपानी खेड़ा मजरा मगरवारा थाना कोतवाली सदर, विनीत पुत्र श्रीपाल निवासी असो लिया सोहरा सांडे जनपद हरदोई विशाल लुनिया पुत्र बब्बन निवासी सांडी जनपद हरदोई के साथ शिकार को खोजता था. जिन्हें सवारी के रूप में बैठा कर सुनसान स्थान पर लूटपाट करते थे और मोबाइल छीन उतार कर भाग जाते थे. उन्होंने बताया कि पकड़े गए अपराधियों के पास से 41 सो रुपए नगद बरामद हुए. इसके साथ ही 315 बोर का एक तमंचा, 12 बोर का देसी नाजायज तमंचा, दो जिंदा कारतूस 315 बोर, दो जिंदा कारतूस 12 बोर एक खोखा 12 बोर के साथ यूपी 35 AA 3260 Maruti Omni वैन जिसका रंग स्लेटी कलर का था बरामद हुआ।

टीम को किया गया पुरस्कृत

अपराधियों को पकड़ने में सर्विलांस टीम की महत्वपूर्ण भूमिका थी और मुखबिर की सूचना पर क्या सफलता मिली। बातचीत के दौरान पेट दो और सुमित पासी ने बताया कि वह कई बार घटनाओं को अंजाम दे चुका है शेष अन्य साथियों ने पहली बार घटना में हाथ बताया है। पकड़े के गिरोह के मुकदमा पंजीकृत कराया गया है जिनके खिलाफ धारा 392 /411/ 307 /34 के साथ आर्म एक्ट की धाराएं लगाई गई हैं। अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पुलिस अधीक्षक ने गिरोह को पकड़ने में शामिल पुलिस टीम को ₹5000 से पुरस्कृत करने की घोषणा की है और टीम के सभी सदस्यों को सम्मानित किया जाएगा।पुलिस टीम में क्षेत्राधिकारी नगर क्षेत्राधिकारी क्राइम अशोक कुमार सिंह क्षेत्राधिकारी सफीपुर, माखी थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह, उपनिरीक्षक अख्तर खान, उपनिरीक्षक बालस्टर सिंह, उप निरीक्षक विकास यादव, शिवेंद्र प्रताप सिंह, सर्वेश कुमार सहित अन्य लोग शामिल थे।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???