Patrika Hindi News

सपा शासन में मुस्लिम पुलिस अधिकारी मारे गए: नसीमुद्दीन सिद्दीकी

Updated: IST BSP
अखिलेश के काम बोलता है का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अखिलेश शासन में 500 से ज्यादा दंगे हुए हैं। कई जानें गईं, उसके बाद भी बोलते हैं कि हमारा काम बोलता है।

उन्नाव। सपा शासन में मुस्लिम पुलिस अधिकारी मारे गए और अखिलेश यादव बोल रहे हैं कि काम बोलता है। यूपी में 500 दंगे कराए गये। मुलायम सिंह स्वयं खुद कहते हैं कि अखिलेश मुस्लिम विरोधी हैं। मियागंज में आयोजित बसपा प्रत्याशी रामबरन कुरील के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए बीएसपी के राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने ये बातें कहीं। चुनावी जनसभा में भारी भीड़ देख नसीमुद्दीन काफी गदगद दिखे।

अखिलेश यादव के काम बोलता है पर किया कटाक्ष

सफीपुर विधानसभा प्रत्याशी रामबरन कुरील के समर्थन में आयोजित चुनावी जनसभा में नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने सपा व कांग्रेस के गंठबंधन पर जमकर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि सपा ने ऐसे पार्टी से गठबंधन किया है जिसके पैर पहले से ही कब्र में हैं। सपा- कांग्रेस डूबता हुआ जहाज है। अखिलेश के काम बोलता है का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अखिलेश शासन में 500 से ज्यादा दंगे हुए हैं। कई जानें गईं, उसके बाद भी बोलते हैं कि हमारा काम बोलता है।

लाइन में लगना अच्छे दिन की पहचान

नोटबंदी पर उन्होंने कहा कि काम-धाम छोड़कर लोग रुपए के लिए दिनभर लाइन में खड़े रहे। इसके बाद भी उन्हें पैसा नहीं मिलता था जबकि मोदी सरकार रेडियो, टीवी पर बड़े पैमाने पर अच्छे दिन का दुष्प्रचार कर रही है। जब कि आज हम अपना पैसा नहीं निकाल सकते हैं। हजार व पांच सौ के नोट बंद करके सभी को लाइन में लगाने का काम अच्छे दिनों में ही हुआ है। चार दिन के बाद उन्हें 2000 का नोट मिला था। जिन्होंने मोदी का सहयोग किया है, आज वही मोदी के खिलाफ उन्हें हराने का काम करेंगे। तीन तलाक पर बोलते हुए नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि तीन तलाक पर बोलने वाले अमित शाह कौन होते हैं। यह हमारा मामला है। भाजपा वाले चुनाव के समय समाज में व्याप्त भाईचारा को खत्म करने का काम कर रहे हैं। इस मौके पर सफीपुर विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशी रामबरन कुरील के साथ बड़ी संख्या में बसपा के कार्यकर्ता व समर्थक मौजूद थे।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???