Patrika Hindi News

बच्चे चोरी का बड़ा खुलासा, मासूम की बातें सुनकर आप रह जाएंगे हैरान

Updated: IST Unnao
बच्चे चोरी का बड़ा खुलासा, मासूम की बातें सुनकर आप रह जाएंगे हैरान

उन्नाव. सदर कोतवाली पुलिस को उस समय बड़ी कामयाबी मिली जब सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस को एक घर से तीन बच्चे बरामद हुए। जो एक माह पूर्व सोनभद्र जिले के घोरावल थाना क्षेत्र के धनावल गांव से अगवा किए गए थे। पूछताछ के दौरान बच्चे दहशत में दिखे। जबकि अपहरणकर्ता ने बताया कि बच्चों की मां बाप उसे बहुत मारते थे। जिससे बच्चे उनके साथ आ गए। पूछताछ के दौरान अपहरणकर्ता ने अपना नाम हरि ओम त्रिपाठी निवासी सोनभद्र का बताया। उसने बताया कि घोरावल सीएचसी में उसकी मां एएनएम के पद पर है। सदर कोतवाली पुलिस ने सोनभद्र पुलिस को घटना की जानकारी देते हुए बच्चों की बरामदगी की सूचना पाकर सोनभद्र पुलिस कोतवाली आई। जहां से बच्चे और अपहरणकर्ता को अपनी सुपुर्दगी में ले कर चली गई। बच्चे के मिलने से परिवार वालों के साथ पुलिस ने ली राहत की सांस ली।

सोनभद्र पुलिस अपने साथ ले गई

सदर कोतवाली पुलिस के अनुसार बीती देर रात यूपी 100 नंबर पर सूचना मिली थी कि तीन बच्चे एक कमरे में बंद है। जिन्हें बाहर नहीं निकलने दिया जाता है। सूचना मिलते ही सदर कोतवाली पुलिस सक्रिय हुई और मौके पर पहुंच गई। सदर कोतवाली क्षेत्र के मगरवारा स्थित रूपनी खेड़ा के असीम कुमार के मकान पर छापा मारा और कमरे से तीन बच्चों को बरामद किया। जिसमें सोनभद्र के घोरावल थाना क्षेत्र के धनावल गांव निवासी पुष्पा (8) पुत्री रामप्रसाद, शन्नो (12) पुत्री गुलाम मोहम्मद, सत्यम (6) पुत्र महेश शामिल है। पुलिसिया पूछताछ में अपहरणकर्ता ने बताया कि सभी बच्चे सोनभद्र के रहने वाले हैं। जिनके माता-पिता उन्हें बहुत मारते थे जिससे परेशान बच्चों ने कहा था कि उन्हें दूर ले चले।

यही कारण था कि बच्चों को लेकर वह उन्नाव चला आया। जहां मगरवारा स्थित रूपनी खेड़ा गांव में किराए का कमरा लेकर बच्चों को रखा था। जिस का किराया रुपए 22000 है। सोनभद्र जिले के बच्चों की जानकारी मिलते ही सदर कोतवाली पुलिस ने सोनभद्र की पुलिस को मामले की जानकारी दी। आनन-फानन सोनभद्र के पुलिस उन्नाव पहुंची। तब मामले का खुलासा हुआ। सोनभद्र पुलिस के अनुसार जिनको 14 - 15 जून को बच्चों को अगवा किया गया था।

जिसका मुकदमा IPC की धारा 364 / 380 में दर्ज किया गया था। सोनभद्र के घोरावल थाना से आई पुलिस पुलिस टीम में SI गंगाधर मौर्य, सीताराम यादव आदि शामिल थे। सदर कोतवाली पुलिस ने बच्चों को सोनभद्र पुलिस के सुपुर्द कर दिया। इधर सदर कोतवाली पुलिस ने बताया कि विवेचना के बाद ही अपहरणकर्ता हरिओम त्रिपाठी की मंशा सामने आएगी कि किन उद्देश्यों को लेकर उसने बच्चों का अपहरण किया था।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???